मुगल काल में भी सुरक्षित थीं गाय…जोगी

byte_3 ajit jogiबिलासपुर—छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष अजीत जोगी ने प्रदेश में गो हत्याओं को लेकर सरकार और गो सेवा आयोग पर निशाना साधा है। जोगी ने कांकेर जिले के कर्रामाड में कामधेनु गौसेवा केंद्र में 200 से ज्यादा गायों की भूख प्यास से मौत होने का दावा किया है। जोगी जिम्मेदार लोगो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

                            आज प्रेस वार्ता में जोगी ने शासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में एक स्थान पर भारी संख्या में गायों की सामूहिक मौत चिंता का विषय है। गायों की सामुहिक मौत गौवद्ध की श्रेणी में आता है। जोगी ने कहा कि इसके लिए ज़िम्मेदार कृषि पशुपालन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, गौ सेवा आयोग अध्यक्ष , कांकेर जिले के निजी गौशाला कामधेनु के अध्यक्ष , संचालक मंडल और सम्बंधित जिले के अधिकारियों कर्मचारियों पर कानूनी कार्रवाई की जाए।

                      जोगी ने कहा कि जिम्मेदार लोगों के खिलाफ छत्तीसगढ़ कृषक पशु परिरक्षण अधिनियम और पशु क्रूरता अधिनिनियम के तहत कानूनी  कार्रवाई होनी चाहिए। मालूम हो कि बीते दिनों अजीत जोगी को सुचना मिली थी कि कांकेर के कर्रामाड में गायो की सामूहिक मौत हुई है। जोगी ने छ्जका के छ सदस्यीय जाँच दल को जांच का ज़िम्मा दिया था । जांच दल ने अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को सौप दी है। रिपोर्ट के अनुसार कर्रामाड़ में 200 से ज्यादा गायो की मौत भूख प्यास की वजह से हुई है।

                                   जोगी ने गौरक्षा के लिए सरकार से अपील भी की है कि प्रदेश में जितने भी गौशाला चाहे शहर के हो या गांव के वहां रहने वाली सभी गायों में जीपीएस चीप से लैश रेडियम का पट्टा लगाया जाए। गायों की हर एक हरकत का पता चलते रहे। इससे गायों को कत्लखानो में जाने से भी बचाया जा सकेगा।

              जोगी ने पत्रकारों को बताया कि अभी कुछ दिन पहले ही संबधित मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सभी गौशालाओं की समीक्षा बैठक ली थी। दरअसल यह बैठक मामले को दबाने के लिए लिया गया था।

                     गायों के प्रति समाज असंवेदनशील हो जाने के प्रश्र पर जोगी ने कहा कि मेरा मानना है कि समाज नही सरकार असंवेदनशील हो गयी है। मुगल काल में भी किसी गाय को तकलीफ नहीं थी। लेकिन भाजपा सरकार में गाय सुरक्षित नहीं हैं। यह संवेगनहीनता की पराकाष्टा है। जोगी ने कहा कि दो साल से केन्द्र में बीजेपी की सरकार है। बीफ एक्सपोर्ट कुछ ज्यादा ही होने लगा है। उन्होने कहा कि झीरम घाटी, फिर एर्राबोर की घटना अब गायों की सामुहिक मौत। कम से कम प्रदेश मुखिया को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

              महानदी के पानी के मुद्दे पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के उड़ीसा बंद पर जोगी ने कहा कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने पीसी लेकर महानदी के पानी पर उड़ीसा का दावा सही होने की बात कही है। छत्तीसगढ़ के कांग्रेस कमेटी से पूछता हूं कि जयराम रमेश के बयान के विरोध में छग के हित में कुछ करेगें।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...