लापरवाह अधिकारी..ग्रामीणों में दहशत..जोगी

AMIT JOGI--BITE--EXCLUSIVEअंबिकापुर—मरवाही विधायक अमित जोगी ने आरोप लगाया है कि पुलिस और वनमण्डल अधिकारियों के बीच तालमेल नहीं होने से भालू ने आम आदमी का जीना हराम कर दिया है। बैकुण्ठपुर वन मंडल के चिरमिरी गेल्हापानी इलाके में भालुओं के आतंक से ग्रामीण परेशान हैं। दो लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा है।  वन अधिकारी जंंगल में मंगल मना रहे हैं।

                मरवाही विधायक अमित जोगी ने बताया कि चिरमिरी के गेल्हापानी जंगल के आदमखोर भालू ने लोगों का जीना हराम कर दिया है। जंगल के बीच बसे गांव के लोग दहशत की सांस ले रहे हैं। गांव में बिजली भी नहीं है। मरवाही विधायक ने बताया कि गांव में दो दिन से आदमखोर भालू आतंक है। चिरमिरी के लाहिड़ी स्कूल के अंदर भालू घुस चुका है। ऐसे में बच्चों की जान को भी खतरा है। वन अधिकारी जंगल में मंगल मना रहे हैं।

                    जोगी ने बताया कि भालू साजा पहाड़ में भी दो लोगों को घायल कर चुका है। पुलिस फायरिंग की तैयारी करती है तो वन बिभाग के अधिकारी रोक देते हैं। इलाके में कभी हाथी का उत्पात होता है तो कभी भालू से जान का खतरा। जिसके चलते लोगों में आक्रोश है। अफसरों के बीच तालमेल नहीं होने से भालू ने अभी तक तीन लोगों को निशाना बनाया है।

जोगी ने श्रम मंत्री भैयालाल रजवाड़े पर निशाना साधा है। उन्होने कहा कि ग्रामीणों की जान बहुत सस्ती है। दस- दस हजार रुपए देकर मंत्री ने परिजनों को चलता कर दिया। सरकार ने परिजनों से सहानुभूति के दो शब्द भी नहीं कहा है। जोगी ने कहा कि अधिकारी बेलगाम और अनुशासनहीन हो गए हैं। वन अधिकारियों को जंगल में मंगल करने से फुर्सत नहीं है। गेल्हापानी और टंगनी में भालू खुलेआम घूम रहे है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...