अनुभवों का सम्मान हमारी साझी विरासत..महापौर

samman samarohबिलासपुर—-भारतीय संस्कृति में वरिष्ठों का स्थान सबसे ऊपर है। बुजुर्गों का सम्मान हमारी सांझी परंपरा है। वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान करते हुए मुझे गर्व महसूस हो रहा है। इस अवसर को मैं ताउम्र रखना चाहुंगा। पत्रकारों और साहित्यकारों पर मां सरस्वती की कृपा होती है। यह समाज के पथ प्रदर्शक होते हैं। यह बातें आईएमए भवन में आयोजित छत्तीसगढ़ सक्रिय पत्रकार संघ के कार्यक्रम में बिलासपुर के प्रथम नाकरिक किशोर राय ने कही। मौका था वरिष्ठ पत्रकार सम्मान समारोह का।

                         उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए महापौर किशोर राय ने कहा कि हमारा एक कस्बा के रूप में हुआ करता था। उस समय भी बिलासपुर के  वरिष्ठ पत्रकारों की लेखनी की चर्चा राज्य और देश में हुआ करती थी। समय की ज्वलंत समस्याओं को निष्पक्षता और निर्भयता के साथ लिखा जाता था। आज का समय सोशल मीडिया का है। अपेक्षाओं के साथ पत्रकारिता में चुनौतियां बढ़ी है। पाठक जल्दी से जल्दी जानकारी पाने का आदी हो गया है।

      किशोर राय ने कहा कि पत्रकार और साहित्यकार अपनी कलम और लेखनी की ताकत के बारे में नयी पीढ़ी को बताएं। सच कहूं तो पत्रकारिता किसी साधना से कम नहीं है। कलम का सिपाही हमेशा समाज को दिशा निर्देश देता है। वह जैसा लिखता है समाज उसी के अनुसार देखता और सोचता है।

                                      सम्मान समारोह कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डाॅ. बद्री जायसवाल ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान किया जाना ना केवल मुझे व्यक्तिगत तौर पर बल्कि बिलासपुर को गर्व हो रहा है। वरिष्ठ लोगों से समाज और व्यक्ति को बहुत कुछ सीखने को मिलता है। क्योंकि वरिष्ठ लोगों के पास अनुभव का अनमोल खजाना होता है। डॉ. जायसवाल ने छत्तीसगढ़ सक्रिय पत्रकार संघ और वरिष्ठ पत्रकार राज गोस्वामी के प्रयासों की सराहना की। उन्होने कहा जिसने वरिष्ठों को अराध्य बनाया समाज उसका एक ना एक दिन जरूर सम्मान करेगा। क्योंकि उसके पास दुनिया को देने के लिए बुजुर्गों से हासिल अनुभव का अनमोल खजाना होता है।

                         कार्यक्रम के अध्यक्ष पत्रकार राज गोस्वामी ने वरिष्ठ पत्रकारों का अभिनंदन करते हुए कहा कि गर्व की बात है कि आज हमें बिलासपुर के स्वनाम धन्य पत्रकारों का आशीर्वाद मिल रहा है। हमारे वरिष्ठ पत्रकारों ने अपनी लेखनी और सकारात्मक सोच से ना केवल पत्रकारिता बल्कि बिलासपुर को नया अयाम दिया है। गर्व होता है कि हमे इन महान पत्रकारों का सानिध्य मिला। उन्होने कहा कि वरिष्ठजनों का सम्मान करना सभी कनिष्ठ पत्रकारों का दायित्व है। राज ने कहा कि छत्तीसगढ़ सक्रिय पत्रकार संघ प्रतिवर्ष वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित करने का फैसला किया है।

                         इस अवसर पर सरदारीलाल सलूजा, केशव शुक्ला, ठाकुर बलदेव सिंह, के.के. शर्मा, के.वासु, अवध मिश्रा, मीना मिश्रा, शौकत मिर्जा बेग, अजय शर्मा,विजय ओझा , क्रांतिकुमार ओझा ,समेत वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान किया गया । इस अवसर पर पत्रकार संघ के उत्तम तिवारी , अमित मिश्रा , मनोज राज , उमेश सिंह ठाकुर , रूपेश सोनी , संजीव पाण्डेय , मनीष जायसवाल , केन जॉन , श्याम लाल रजक , रवि शुक्ला, सालिकराम साहू , कोटरीवार , मनोहर मूलचंदानी , सुनील तिवारी , मुंगेली से शत्रुघन बंजारे , पारस कोसले , भागवत पात्रे , बिसाहूलाल कुर्रे , अनिल बघेल , सूरज धीरे , सुरेश सिंह पटेल , देवचरण जोशी , तुलसी साहू , प्रकाश पात्रे , महफूस खान , गोविंद शर्मा , राकेश परिहार , पार्षद उमेश कुमार , पार्षद शैलेन्द्र जायसवाल , डीआरएम रेलवे पीआरओ अंबिकेश साहू , गुरूकुल के संस्थापक श्री बृजेद्र शुक्ल , नासिर खान , योगेश बोले , रितेश मिश्रा , मौजूद थे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...