दुर्ग और भिलाई का करेंगे रावण दहन-अजीत जोगी

बिलासपुरIMG-20161007-WA0234— सरकार की भू-अर्जन नीति पूंजीपतियों को बढ़ावा देने वाली है। यूपीए सरकार की भू-अर्जन नीति में किसानों की जमीन की कीमत चार गुना दने को कहा गया है। लेकिन प्रदेश सरकार किसानों के हितों से खिलवाड़ करते हुए सिर्फ दो गुना ही जमीन की कीमत दे रही हैं। मैने प्रधानमंत्री कार्यालय से भी शिकायत की है। लेकिन प्रदेश सरकार ने मेरी शिकायतों को कभी गंभीरता से नहीं लिया। नई पार्टी का रजिस्ट्रेशन भी जल्द हो जाएगा। कांग्रेस में लौटने का सवाल ही नहीं उठता है। क्योंकि मैं कभी पीछे मुड़कर नहीं देखता। यह बातें आज पत्रवार्ता के दौरान छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी के संस्थापक अजीत प्रमोद जोगी ने कही।

                                        जोगी ने बताया कि प्रदेश में किसानों के साथ लगातार अन्याय हो रहा है। प्रदेश में यूपीए सरकार के भू-अर्जन अधिनियम का पालन नहीं किया जा रहा है। साल 2013 में केन्द्र सरकार के भू-अर्जन अधिनियम को मोदी सरकार ने यथावत रखा है। बावजूद इसके प्रदेश के किसानों के साथ छलावा किया जा रहा है। अधिनियम के अनुसार भू-अर्जन के समय किसानों को जमीन की कीमत चार गुना मिलना चाहिए। लेकिन पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार जमीन की कीमत सिर्फ दो गुना ही दे रही है।

             मैने मुख्यमंत्री कार्यालय को पत्र लिखकर जमीन अधिग्रहण के बारे में बताया। लेकिन प्रदेश सरकार ने पत्र को गंभीरता से नहीं लिया। प्रधानमंत्री कार्यालय को भी पत्र लिखा। केन्द्र सरकार ने प्रदेश सरकार से जानकारी मांगी। बावजूद इसके मुख्यमंत्री जमीन अधिनियम को दरकिनार कर किसानों को जमीन के बदलते सिर्फ दो गुना रकम दे रहे हैं। छत्तीसगढ़ जनता पार्टी प्रदेश की तानाशाही का विरोध करती है। जरूरत पड़ी तो किसानों के हित में कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। आंदोलन भी करेंंगे।

                                       नक्सल समस्या के सवाल पर अजीत जोगी ने कहा कि सरकार के नक्सल कार्यवाही का हम समर्थन करते हैं। लेकिन फर्जी एनकाउंटर और सरेंडर का छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस विरोध करती है। बेगुनाहों को भी नक्सली बताकर सरेंडर करवाया जा रहा है। बेगुनाहों का फर्जी एनकाउटर किया जा रहा है। बस्तर क्षेत्र में पुलिस अत्याचार से जनता परेशान है।

              एक सवाल के जवाब में जोगी ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि आदिवासी गृहमंत्री बनाकार आदिवासियों की हत्या की जा रही है। जनता सब जानती है। पहले रामविचार नेताम, ननकी राम कंवर  जैसे आदिवासी नेताओं को गृहमत्री बनाकर नक्सलियों के नाम आदिवासियों को मारा गया। अब रामसेवक पैकरा गृहमंत्री हैं। फर्जी एनकाउन्टर कर आदिवासियों को निशाना बनाया जा रहा है।

                  जोगी ने कहा कि पार्टी का रजिनस्ट्रेशन जल्द हो जाएगा। चुनाव आयोग ने 13 अक्टूबर  को बुलाया है। लेकिन उस दिन किसी कार्यक्रम में व्यस्त हूं। आयोग से बाद का समय मांगा है। भूपेश बघेल को संविधान का अध्ययन करना चाहिए। जानकारी नहीं है तो किसी से जानकारी लेनी चाहिए। जोगी ने कहा कि भूपेश बघेल और कांग्रेस अप्रासंगिक हो चुक हैं। इसलिए प्रतिक्रिया देने की जरूरत नहीं है।

धान खरीदी के सवाल पर जोगी ने कहा कि किसानों के साथ समर्थन मूल्य और बोनस को लेकर बायदा खिलाफी हुई है। अब कोचियों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों का धान 15 नवम्बर से खरीदने का फरमान सरकार ने जारी किया है। जोगी ने बताया कि छत्तीसगढ़ में धान में दो प्रकार की फसल ली जाती है। पहली फसल 15 अक्टूबर से पहले किसानों के पास आ जाती है। सामने त्योहार है इसलिए हमने सरकार से कहा कि धान खरीदी की ताऱीख 15 नवम्बर की जाए। किसानों के जेब में रूपए रहेंगे तो त्योहार भी अच्छा मनेगा। लेकिन सरकार ने बिचौलियों को फायदा पहुंंचाने के लिए धान खरीदी का समय 15 नवम्बर कर दिया।

कांग्रेस में लौटेंगे के सवाल पर जोगी ने कहा कि मैं पीछे मुड़कर नहीं देखता। कांंग्रेस वापसी का सवाल ही पैदा नहीं होता। पार्टी की लोकप्रियता बढ़ रही है। जनता का लगातार समर्थन भी मिल रहा है।

               राहुल गांधी पर आपके कार्यकर्ताओं ने थाने में देशद्रोह की शिकायत की है के सवाल को टालते हुए जोगी ने टालते हुए कहा कि गांधी परिवार से मेरे पारिवारिक संबध हैं। लेकिन पार्टी संबध खत्म हो गया है। पार्टी कार्यकर्ता लगातार काम कर रहे हैं।

                            पत्रकारों के सवालोंं का जवाब देते हुए जोगी ने कहा कि वीरगाव रावण दहन करने जाएंंगे। सच्चाई तो यह है कि वे दुर्ग और भिलाई का रावण दहन करने जा रहै हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...