कालाधनःभारत में नहीं स्विजरलैण्ड में..अजीत जोगी

byte_3 ajit jogiरायपुर— पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के अनुसार नोटबंदी स्ट्राईक उतनी कारगर सिद्ध नहीं हो रही है जितनी गरीब और आम आदमी को परेशानी हो रही है। नागरिकों के धैर्य में टूटन आत्महत्या की बढ़ती घटना,आर्थिक सर्जिकल स्ट्राईक की मंशा का रंग फीका करते हैं। गरीब और मध्यम वर्ग के नागरिक परेशान  हैं। काले धन को समाप्त करने का उद्देश्य धूमिल हो रहा हैं।

                          छजका प्रमुख अजीत जोगी ने प्रेस नोट जारी कर कहा है कि देश में काला धन बरकरार रहेगा… केवल नोट बदल रहे हैं। सत्ताधारियों और रसूखदारों के चेहरे चमक रहे हैं। ऐसे लोगों को नोट बंदी स्ट्राइक की जानकारी पहले से ही थी। ऐसे लोगों को काले धन को ठिकाने लगाने भरपूर समय दिया गया। भाजपाई मानसिकता के बड़े उद्योगपति और धनाढ्य सहयोगियों को पहले ही आगाह कर दिया गया था।

                    जोगी ने कहा है कि गरीब और मध्यम वर्ग के नागरिकों को लाईन में घंटों खड़े रहने के लिए मजबूर किया गया है। प्रधानमत्री जापान कूच कर गये। उन्हें जापान की वजाय स्वीटजरलेंड जाना चाहिए था। क्योंकि असली काला धन स्वीस बैंक में है। स्वीस बैंक से काले धन को देश में लाने के लिए किसी स्ट्राइक की खोज करना ज्यादा लाभकारी होगा। स्वीस बैंक में देश के उद्योगपतियों, धनाढ्य रसूखदारों का काला धन जमा है। देश के बाहर से असली काला धन लाने की पहल केन्द्र सरकार करेगी आसार दूर दूर तक नजर नहीं आ रहे है।

जोगी ने कहा है कि पुराने नोटों को बदलने का पर्याप्त समय आम नागरिकों को नहीं दिया गया। बेबस गरीब नागरिकों को आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया है। बुजुर्ग, महिलाओं, विकलांगों को बैंक और डाकघरों में अलग से व्यवस्था नहीं होने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। भाजपा सरकार की अपरिपक्व और प्रशासनिक विफलता को जाहिर करता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...