जोगी ने लगाया नोट बांटने का आरोप—आंदोलन का किया एलान

1(3)  रायपुर—अजीत जोगी ने चिरमिरी के भाजपा नेताओं खासकर वर्तमान और पूर्व विधायक पर कंबल के आड़ में कालाधन बांटने जाने का आरोप लगाया है। पत्रवार्ता में जोगी ने बताया कि भाजपा से जुड़े चिरमिरी के एक शैक्षणिक संस्थान मे कंबल वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पूर्व और वर्तमान समेत भाजपा जिला अध्यक्ष ने कबंल वितरण के समय पांच सौ के पुराने नोट भी बाटें हैं। जोगी के अनुसार इस मौके पर ओवरसीज़ फ्रेंड्स ऑफ भाजपा के पदाधिकारी पूर्व विधायक दीपक पटेल के चचेरे भाई  चन्द्रकांत भी मौजूद थे। जोगी ने कहा कि कंबल के साथ पांच सौ नोट वितरण का प्रमाण छजकां के पास है।

                जोगी ने कहा कि चन्द्रकांत का भाजपा के आला नेताओं का संरक्षण है। जाहिर सी बात है कि चिरमिरी वर्तमान और पूर्व विधायक को भी भाजपा नेताओं का आशीर्वाद हासिल है। कंबल के साथ पुराने 500 और हज़ार के नोट बड़ी संख्या में बांटे गए है। इनमें से कई नोट जले हुए भी थे। कार्यक्रम मे शामिल ग्रामीणों के नाम और पते भी लिखे गए हैं। मौके पर उपस्थित कुछ लोगों ने जब विरोध किया तो विधायक प्रतिनिधि ने खबर को वायरल करने से मना किया।  2(5)

पत्रवार्ता में जोगी ने बताया कि छत्तीसगढ़ में भाजपा नेता अपने पास रखे काले धन के कुछ भाग को इस तरह के आयोजन कर धर्म का लबादा चढ़ाया है। ताकि उन्हें राजनैतिक फ़ायदा मिल सके। जोगी ने कहा कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और घोटालों के जरिये बनाये गए काले धन के व्यापक स्तर पर छत्तीसगढ़ में होने का इशारा करता है। जोगी ने कहा कि कंंबल वितरण कार्यक्रम से ठीक 30 मीटर की दूरी पर पुलिस थाना है। बावजूद इसके नोट वितरण पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गयी।

जोगी ने कहा कि उन्होंने मामले की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर  दी है। प्रधानमंत्री से अब कार्यवाही का इंंतजार है।   जोगी ने बताया कि मोदी के नोटबंदी का फैसले स्वागतयोग्य है। लेकिन इसमें कई कमियां भी हैं।

IMG-20161203-WA0029नोटबंदी के खिलाफ छजकां का आंदोलन

              जोगी ने पत्रकारों को बताया कि 8 दिसंबर को नोटबंदी के तीस दिन पूरे होने पर नोट बिन तीस दिन जनता खिन्न आन्दोलन किया जाएगा। नोटबंदी के गलत क्रियान्वयन ने व्यापार रोजगार और कामगार को जीते जी मार दिया है। प्रदेश के लोगों की आर्थिक स्थिति के साथ साथ अर्थव्यवस्था भी चरमरा गयी है। राज्य सरकार को जनता की परेशानियों का आभास कराने पूरे प्रदेश में जेब की अर्थी निकाली जायेगी। खाली जेब का हाल बताने कटोरा लेकर लोग शव यात्रा में शामिल होंगे। जेबों का हार पहनकर कार्यकर्ता प्रदर्श करेंगे।

loading...

Comments

  1. By Dinesh Nirmalka

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...