सीयू:लॉं डिपार्टमेंट में वार्षिक उत्सव “लैक्स इग्निशिया-2017” का समापन

gguबिलासपुर।गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के रजत जयंती सभागार में सोमवार को विधि अध्ययनशाला के दो दिवसीय वार्षिक उत्सव “लैक्स इग्निशिया-2017” का समापन हुआ।इस मौके पर मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलसचिव (कार्यवनाहक) प्रोफेसर बी.एन. तिवारी थे।सांस्कृतिक संध्या के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि प्रोफेसर बी.एन. तिवारी ने कहा कि आप सभी भविष्य के ज्यूडिशिरी के जानकार हैं। उन्होंने कहा कि इस सांस्कृतिक संध्या पर युवा छात्रों का उत्साह देखकर लगता है कि यह सिर्फ दो दिनों के लिए नहीं बल्कि राष्ट्र निर्माण के लिए है।

                   विधि अध्ययनशाला के अधिष्ठाता प्रोफेसर वी.एस. राठौड़ ने कहा कि विधि विभाग के छात्र अनुशासित, संयमित एवं सकारामतक उर्जा से भरे हुए हैं।अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. एम.एन. त्रिपाठी ने कहा कि किसी भी आयोजन की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि हमने उससे क्या सीखा। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि छात्र-छात्राएं इस सांस्कृतिक वार्षिक कार्यक्रम से कुछ सीखकर जाएंगे। उन्होंने छात्रों के अनुशासन की भी भूरि-भूरि प्रशंसा की।

                  विधि विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर एस.एस. सिंह ने “लैक्स इग्निशिया-2017” के लिए विभाग के छात्रों को बधाई देते हुए उनके अनुसाशन एवं सकारात्मक कार्य योजना की तारीफ की।

                      सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत सुश्री काव्या साहू ने फिल्म देवदास के क्लासिकल गाने पर की। खासबात यह है कि सेमी क्लासिकल डांस में काव्या को राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान प्राप्त है। उनके शानदार प्रदर्शन को देखकर सभागार में मौजूद दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। दूसरी प्रस्तुति श्री ऋषभ सिंह ने दी, उन्होंने डूबे दिन मेरे गाने पर अपनी सुरीली आवाज से लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। पंकज कुशवाहा और सुश्री वर्नाली बनर्जी ने अपनी गायकी के अंदाज लोगों का दिल मोह लिया। गिटार और आवाज के संगम से दोनों ने फ्यूजन प्रस्तुत किया।

                      इस सांस्कृतिक संध्या की खास पेशकश रही हमर छत्तीसगढिया लोक नृत्य जिसकी स्पष्ट झलक आज मंच पर देखने को मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *