लिकर किंग मैनेजर पर गिरी गाज…हिरासत में प्रोफेसर

AJAY YADAVबिलासपुर—जाँजगीर चाम्पा पुलिस की सक्रियता से शराब माफियों को लगातार मुंह की खानी पड़ रही है। पुलिस कप्तान अजय यादव के निर्देशन में जांजगीर चांपा पुलिस ने अवैध शराब रैकेट का भाड़ा फोड़ा है। पुलिस ने गुरूवार रात देर रात से शुक्रवार सुबह तक की कार्रवाई में दो महत्वपूर्ण प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस की अति सक्रियता से शराब व्यवसायियों में हड़कम्प है।

                          छत्तीसगढ़ सरकार…चरणबद्ध तरीके से शराब बिक्री और उपयोग को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही है। प्रदेश के मुखिया ने कोचियों की सक्रियता पर पुलिस कप्तान और थानेदारों के खिलाफ कठोर कार्रवाई का संकेत दिया है। सीएम के फरमान के बाद पुलिस प्रशासन शराब माफियों और कोचियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है।

                                                                                                            प्रदेश सरकार ने 1 अप्रेल 2017 से शराब के कारोबार को कार्पोरेशन के हाथों सौंप दिया है। सरकार के फैसले से शराब माफियों को करारा झटका लगा है। बावजूद इसके शराब माफिया शराब के अवैध व्यवसाय  से बाज नहीं आ रहे है। अधिक से अधिक मुनाफा कमाने कई प्रकार के हथकंडे अपना रहे हैं। प्रशासनिक सख्ती के बाद भी रसूखदार लिकर किंग कोचियों के सहयोग से शहर से गाँव तक शराब की अवैध बिक्री कर रहे हैं। लेकिन जांजगीर पुलिस ने शराब की अवैध शराब बिक्री के खिलाफ कार्रवाई करते हुए हाइप्रोफाइल मामले को उजागर किया है। बड़ी कार्रवाई में शराबमाफियों के ठिकानों से भारी मात्रा में शराब का जखीरा मिला है। अवैध बिक्री करने वाले कोचियों को हिरासत में लिया गया है। IMG-20170427-WA0005

                    पुलिस कप्तान अजय यादव के निर्देश में जिला पुलिस प्रशासन ने गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात में बडी कार्रवाई करते हुए दो महत्वपूर्ण प्रकरण कायम किये  है। पहली कार्यवाही जाँजगीर चौक के हरियाली हेरिटेज बार में की गयी। छापामार कार्रवाई के दौरान पुलिस को 193 लीटर अग्रेंजी शराब और 1057 लीटर बीयर और बेशकीमती ब्रांड के स्कॉच का अवैध भंडार मिला है।

                   पुलिस ने बार संचालक प्रकाश राठौर के खिलाफ गैर जमानती प्रकरण दर्ज किया है। सूत्रों के अनुसार हरियाली हैरिटेज बार में शराब संग्रहण रसूखदार लिकरकिंग के मैनेजर प्रोफेसर सिंह के इशारे में किया गया है। मुखबिर की सूचना ने तथा कथित रसूखदार मैनेजर प्रोफेसर सिंह के निवास पर छापामार कार्यवाही की गयी । मौके से मँहगे ब्रांड के लाखों रुपये की शराब बरामद हुई।

               पुलिस कप्तान अजय सिंह यादव ने बताया कि प्रोफेसर सिंह के खिलाफ गैर जमानती का प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रोफेसर सिंह पर जांजगीर के कई थानों में धमकी और फिरौती का भी मामला दर्ज है।

                                     सूत्रों ने बताया कि प्रोफेसर सिंह प्रदेश के रसूखदार शराब ठेकेदार का मैनेजर है। जाँजगीर और कोरबा जिले में शराब और अन्य कारोबार को पिछले 15 साल से देख रहा है। फ्रोफेसर सिंह के रसूख के चलते पुलिस लम्बे समय से किसी भी प्रकार की कार्यवाही से बच रही थी। सूत्रों की मीनें तो ताजा घटनाक्रम में मामले को शिथिल करने पुलिस कप्तान पर प्रदेश स्तर के कई प्रभावशाली व्यक्तियों ने दबाव बनाया। बावजूद इसके अजय यादव ने न केवल झुकने से इंकार किया…बल्कि प्रोफेसर सिहं के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया ।

                         मालूम हो कि प्रदेश के मुखिया डॉ रमन सिंह ने शराब के अवैध कारोबार पर सख्ती से लगाम लगाने को कहा है। क्षेत्र में अवैध शराब बिक्री की शिकायत पर थानेदार और एसपी पर कार्रवाई का संकेत दिया है। सीएम  के सख्त रूख को देखते हुए प्रदेश में कोचियों के खिलाफ पुलिस विशेष अभियान चला रही है। इसके चलते शहर से लेकर गांव तक कोचियों की खटिया खड़ी हो गयी है। आम जनता खासतौर पर महिलाओं ने राहत की सांस ली है।

मालूम हो कि जाँजगीर चाम्पा जिले के कमोबेश सभी थानोंं में अवैध शराब प्रकरण के दर्जनों मामले दर्ज हैं। लेकिन ताजा घटनाक्रम में हाई प्रोफाइल प्रकरण के बाद स्थानीय कोचियों का मनोबल टूटा है। जांजगीर की जनता प्रोफेसर सिंह के खिलाफ कार्रवाई से उत्साहित है। जांजगीरवासियों ने पुलिस कप्तान की कार्रवाई को स्वागतयोग्य बताया है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...