खतरनाक गैंग ने किया था..सगे भाइयों का अपहरण..4 की गिरफ्तारी के बाद खुलासा

IMG20170501174523बिलासपुर— पुलिस कप्तान मंयक श्रीवास्तव ने चार लोगों की गिरफ्तारी के बाद बिलासागुड़ी में दो सगे भाइयों के अपहरण मामले में नया खुलासा किया है। मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि दोनों सगे भाइयों का अपहरण खतरनाक गैंग ने किया था। पकड़े गए आरोपियों में ज्यादातर लोगों का हाथ कई अपहरण जैसे वारादात और मौत की घटनाओं में है। दोनों सगे भाइयों के अपहरण में शामिल मुख्य सरगना में से एक आकाश यादव अभी भी फरार है। पुलिस कप्तान ने बताया कि पंडरभाठा मुंगेली से गिरफ्तार शैलेश शुक्ला ने बताया है कि नानू यादव,वकील अंसारी,अजमेर सिंह,मनोज कश्यप ने मिलकर फिरौती मामले में जैतहरी अनूपपुर मध्यप्रदेश निवासी एक अधेड़ की हत्या की है।

                              पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने सरकंडा में 24 अप्रैल को दो सगे भाइयों के अपहरण मामले में चार खतरनाक आरोपियों की गिरफ्तारी में नया खुलासा किया है। पुलिस कप्तान ने बताया कि अपहरण में खतरनाक गैंग काम कर रहा था। लेकिन मीडिया और पुलिस सक्रियता से दोनो सगे भाइयों को बचा लिया गया। 25 अप्रैल को दोनो भाइयों को मुंगेली बस स्टैण्ड में छोड़कर आरोपी फरार हो गए थे। घटना के दो दिन बाद पुलिस ने सकरी स्थित सागर होम्स से वकील अंसारी और जोरापारा से आलोक उर्फ छोटू को हिरासत में लिया था। दोनों से सघन पूछताछ के बाद अपहरण में शामिल चार अन्य आरोपियों को विभिन्न स्थानों से हिरासत में लिया गया। जबकि एक अन्य मुख्य आरोपी नानू ऊर्फ आकाश यादव फरार है।

अब तक 6 आरोपी पकड़े गए

                     दोनों सगे भाइयों के अपहरण का खुलासा करते हुए मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि घटना के दो दिन बाद हिरासत  में लिए गए दोनों आरोपी वकील अंसारी और आलोक तिवारी से पूछताछ के बाद अपहरण में शामिल चार अन्य आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। शैलेश शुक्ला मुंगेली जिले के पंडरीभाठा का रहने वाला है। अजमेर सिंह मध्यप्रदेश अनूपपुर जिले के कोतमा तहसील जमुनिहा का निवासी है। अनिल कुमार पाठे पिता राम सुन्दर पाठे करही थाना मुंगेली का है। चौथा आरोपी राम मिलन ऊर्फ रवि तिवारी तखतपुर बेरला का निवासी है।

फिरौती नहीं मिली तो हत्या

IMG20170501174223            पूछताछ के दौरान शैलेश शुक्ला ने बताया कि वह अजमेर सिंंह के साथ पहले से ही हत्या,डकैती,लूटपाट जैसी घटना को अंजाम दे चुका है। आर्म्स एक्ट में भी दोनों की गिरफ्तार हो चुकी है। पुलिस कप्तान ने बताया कि शैलेश शुक्ला, अजमेर सिंह,आकाश यादव,मनोज कश्यप, वकील अंसारी के साथ जैतहरी से एक व्यक्ति का अपहरण कर चुका है। फिरौती नहीं मिलने पर जैतहरी जिला अनूपपुर निवासी राम विशाल दीपांकर उम्र 58 साल की हत्या कर शव को लरकेनी थाना मरवाही में फेंक दिया था। मामले में मरवाही थाने में अपराध भी दर्ज है।

                     पत्रकारों को पुलिस कप्तान ने बताया कि दोनों सगे भाइयों के अपहरण में कुल सात लोग शामिल है। वकील अंसारी और आलोक को पहले से ही हिरासत में लिया जा चुका है। जबकि अजमेर सिह,शैलेश शुक्ला, राममिलन और अनिल कुमार पाठे को आज हिरासत में लिया गया है। सातवां आरोपी आकाश अभी भी पुलिस गिरसारी से दूर है। पुलिस कप्तान ने बताया जैतहरी में रामविशाल दीपांकर के  अपहण हत्या मामले में मनोज कश्यप को हिरासत में लिया गया है।

                         पुलिस कप्तान ने बताया कि 24 अप्रैल को दोनों भाइयों का अपहरण और बाद में मुंगेली बस स्टैण्ड में दोनों भाइयों का छोड़ना पुलिस और मीडिया के दबाव से संभव हुआ है। अन्यथा अपहण करने वाला गैंग बहुत शातिर है। मीडिया और पुलिस का दबाव नहीं होता तो दोनों बच्चों के साथ कुछ भी हो सकता था।

                    सभी आरोपी आदतन किडनैपर,फिरौतीबाज और हत्या जैसे मामलों में शामिल हैं। मंयक ने बताया कि अपहण के सभी आरोपी इस बीच मध्यप्रदेश के एक व्यापारी की अपहरण करने के फिराक में थे। इसके अलावा छत्तीसगढ़ में फिरौती की योजना बना रहे थे। इसी बीच बिलासपुर पुलिस ने सभी को धर दबोचा। जिसके चलते आरोपी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए।

                      पत्रकारों को पुलिस कप्तान मंयक श्रीवास्तव ने बताया कि दोनों सगे भाइयों के अपहरण के दौरान प्रयोग किए सभी मोबाइलों को जब्त कर लिया गया है। इसके अलावा घटना में उपयोग किए गए मोटरसायकल और स्कार्पियों को भी बरामद कर लिया गया है। सभी आरोपियों के खिलाफ 363,364 (क),365,368,120(बी) धारा 34 का मामला दर्ज किया गया है।  पुलिस कप्तान के अनुसार कोतमा जमुनिहा निवासी अजमेर सिंह ने ही दोनों सगे भाइयों के परिजनों को अपनी मोबाइल से फिरौती की मांग की थी।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...