श्रमिको ने बनाया एसईसीएल को ऊर्जा हब….रेड्डी

photo - may dayबिलासपुर—-एसईसीएल हसदेव क्षेत्र में खनिक दिवस गरिमामय माहौल में मनाया गया। अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक बी. आर. रेड्डी के मुख्य आतिथ्य, निदेशक कार्मिक  डाॅ. आर.एस. झा, निदेशक तकनीकी  पी.के. सिन्हा, समेत,एसईसीएल के आलाधिकारियों की उपस्थिति में खनिक दिवस समारोह का आयोजन किया  गया ।
                          कार्यक्रम की शुरूआत में मुख्य अतिथि ध्वजारोहण किया गया। दीप-प्रज्जवलन के बाद कार्यक्रम की शुरूआत हुई। इस दौरान कोलइण्डिया कारपोरेट गीत बजाया गया। शहीद श्रमवीरों के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा गया। अतिथियों ने ’’एसईसीएल परफारमेंस हाईलाईट’’ का विमोचन किया।
                अपने संबोधन में मुख्य अतिथि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक बी. आर. रेड्डी ने कहा कि आज का दिन श्रमिकों के सेवाओं के सम्मान का दिन है, निःसंदेह कोयला खान का श्रमिक दिन-रात मेहनत कर राष्ट्र की ऊर्जा शक्ति बढ़ाने और आर्थिक मजबूती में अपना योगदान दे रहे हैं । रेड्डी ने कहा कि कठिन परिश्रम और लगन से ही एसईसीएल लक्ष्यों को हासिल करता आया है। एसईसीएल की सफलतम परम्परा को यहाॅं के श्रमवीरों ने जीवित रखा है । रेड्डी ने कहा कि एसईसीएल कोलइण्डिया की सभी अनुषंगी कम्पनियों में हर पैरामीटर पर नम्बर-1 का स्थान रखता है। यह तभी संभव होगा जब यहाॅं के अधिकारी-कर्मचारी, अंशधारक एकजुट होकर कार्य करेंगे ।
                   निदेशक कार्मिक डॉ. आर.एस. झा ने कहा कि आज का शुभ दिन श्रमिकों के सेवाओं के सम्मान का दिन है। कोयला खान का श्रमिक दिन-रात मेहनत कर राष्ट्र की ऊर्जा शक्ति बढ़ाने एवं राष्ट्र को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने में अपना अमूल्य योगदान दे रहा है  ।कोयला उत्पादन या अन्य लक्ष्यों को तभी हासिल कर पाएॅंगे जब हम अपने खनिकों का ध्यान रखेंगे ।
              निदेशक तकनीकी योजना/परियोजना पी.के. सिन्हा ने कहा कि प्रारंभ से ही एसईसीएल के श्रमवीरों का देश के विकास में अमूल्य योगदान रहा है । एसईसीएल संचालन समिति के सदस्य नाथूलाल पाण्डे, हऱिद्वार सिंह, ओंकार द्विवेदी, के. पाण्डे ने भी अपने विचार रखे।

श्रमवीरों का सम्मान

               इस अवसर पर मंचस्थ अतिथियों ने ओव्हरआल परफारमेंस और विभिन्न केटेगरी के विजेताओं को पुरस्कार दिया। ओवर आल परफारमेंस ग्रुप-ए (10 मिलियन टन से अधिक) प्रथम-कुसमुण्डा क्षेत्र, द्वितीय-गेवरा क्षेत्र, तृतीय-दीपका क्षेत्र को पुरस्कार दिया गया। रहा । 3.50 मिलियन टन से 10 मिलियन टन उत्पादन में- प्रथम पुरस्कार -चिरमिरी, द्वितीय-कोरबा, तृतीय-भटगांव क्षेत्र को दिया गया। 3.50 मिलियन टन से कम उत्पादन में पहला स्थान जमुना कोतमा क्षेत्र, दूसरा बैकुण्ठपुर क्षेत्र और तृतीय स्थान जोहिला को मिला। महिला मण्डल में पहला स्थान श्रद्धा महिला मण्डल एसईसीएल मुख्यालय और दूसरे स्थान के लिए ऊर्जा महिला मण्डल कुसमुण्डा को सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *