कांग्रेसियों ने जलाया सीएम का पुतला..कहा…जोगी घाटाले के जनक

IMG-20170512-WA0003 बिलासपुर— चाक चौबंद पुलिस व्यवस्था के बीच जिला कांग्रेस कमेटी ने नेहरु चौक में मुख्यमंत्री का पुतला जलाया। कांग्रेसियो ने सरकार और मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा। कमिशन खोरी, छत्तीसगढ़ को उद्योगपतियो को बेचे का भी आरोप लगाया। कांग्रेसियों ने कहा कि अपनी असफलता पर पर्दा डालने के लिए भाजपा सरकार विरोधी पार्टी के नेता को निशाना बना रही है। दरअसल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री केसाथ मिलकर लोकतंत्र की हत्या करना चाहते हैं। इस हरकत को किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं किया जाएगा।

                           कांग्रेसियों ने कहा कि मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार अपनी असफलता को छिपाने, अपराधबोध से बाहर निकलने के लिए अनाप शनाप हरकतें कर रही है। सरकार हताशा और असंतुलन की स्थिति में प्रजातंत्र को समाप्त करना चाहती है। विरोधी दल पर अपराधिक मामला दर्ज कर लोगों का ध्यान भटकना चाहती है।

            कांग्रेसियों ने पुतला दहने के पहले और बाद में बताया कि पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने प्रदेश सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार आन्दोलन छेड़ रखा है। सरकार कांग्रेस की लोकप्रियता के चलते बैकफुट पर आ गयी है। अपनी बौखलाहट को छुपा नही पा रही है। जिसके कारण भूपेश बघेल के खिलाफ ईओडब्लू में झूठा प्रकरण दर्ज करने का कुत्सित प्रयास किया है।

                         निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजिरुद्दीन, पूर्व महापौर राजेश पाण्डेय, भुवनेश्वर यादव,वरिष्ठ कांग्रेस नेता शिवा मिश्रा ने कहा कि बघेल परिवार पाटन का नामी जमीदार परिवार है। बघेल परिवार ने भिलाई स्टील प्लांट को 165 एकड़ जमीन दान में दिया है। उस परिवार पर सरकार ने जमीन के चंद टुकड़े को हड़पने का इल्जाम लगाया है। सरकार इओडब्लू में एफ़आईआर कर विरोधियो  पर पुलिस प्रशासन का भय दिखा रही है। लेकिन जनता सब असलियत जान चुकी है। प्रदेश सरकार अब जनता की आवाज़ को भी दबाने का प्रयास कर रही है।

                 कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा सरकार के मंत्रीमंडल के आधे से अधिक सदस्य मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार में शामिल हैं। लगभग पांच दशक पूर्व से छत्तीसगढ़ में निवासरत है। कोई उड़ीसा से भगाए गये है तो कोई इन्दोर का भगोड़ा है। तो किसी का परिवार भागकर बिहार से आया है।  आज ये सभी अरबपति बन चुके हैं। इनके पास इतना पैसा आया कहां से इसकी जाँच होनी चाहिए।

घोटाले वाली सरकारIMG-20170512-WA0007

                            कांग्रेसियों ने कहा कि प्रदेश की एक एक जनता को मालूम है कि भाजपा सरकार का दूसरा नाम घोटाला सरकार है। घोटालों के पनामा गेट,नान घोटाला, प्रियदर्शनीय बैंक घोटाला, धान घोटाला, चिटफंड घोटाला, ओडीऍफ़ घोटाला, राशन घोटाला, सीवरेज घोटाला, कमल विहार घोटाला, अंतागढ़ टेप घोटाला, बस्तर का सडक घोटाला, जिसके सुरक्षा में 26 सैनिक शहीद हो गए। इन घोटालों को भुलाए नहीं भूला जा सकता है।

अजीत जोगी घाटाले के जनक

                    भाजपा सरकार के पैरोकार और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी छत्तीसगढ़ से अपनी पूरी संपत्ति बेच कर इन्दौर चले गये थे। 1999 के लोक सभा चुनाव के पहले तक छत्तीसगढ़ में एक मकान नही था। आज अपने को छत्तीसगढ़िया कहते हैं। अजीत जोगी छत्तीसगढ़ में घोटालों के जनक हैं। पामोलिव तेल घोटाला, कोड़ार बांध घोटाला, इन्दौर का कैग मानचित्र घोटाला आज भी लोगों को याद है। जोगी आज तोता रटंत करते हैं। वर्तमान सरकार और जोगी में गठजोड़ है। सरकार की वर्तमान स्थिति 2003 से बदत्तर करने की साजिश है। कांग्रेसियों ने कहा कि छत्तीसगढ़ कि जनता अपना हितों की रक्षा करना जानती है। निश्चित रूप से साल 2018 के चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनेगी।

                         पुतला दहन में सुनील शुक्ल, अजय सिंह, शैलेन्द्र जायसवाल, गणेश रजक, ऋषि पाण्डेय, सुधांशु मिश्रा, सीमा पाण्डेय, मंजू त्रिपाठी, सुभाष ठाकुर, रमा शंकर बघेल, दीपांशु श्रीवास्तव, जावेद मेनन,एकरम गोरख, मनोज शुक्ला,भावेंद्र गंगोत्री,नीरज सोनी, हीरा यादव, ऋषि कश्यप,समेत अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *