नर्स निलंबित,डाक्टर अटैच…एडीएम करेंगे मुस्कान मामले की जांच

IMG-20170517-WA0001बिलासपुर— दो दिन पहले प्रसव पीड़िता मुस्कान को जिला अस्पताल में भर्ती नहीं किए जाने के मामले को कमिश्नर ने गंभीरता से लिया है। कलेक्टर की अध्यक्षता में मामले में जांच का आदेश दिया है। निहारिका बारीक सिंह ने संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं की प्राथमिक जांच रिपोर्ट को आधार मानते हुए नर्स सीमा सिंह और डॉ रमा घोष को निलंबित करने का आदेश दिया है। अतिरिक्त कलेक्टर की अध्यक्षता में जांच पूरी होने तक तक स्त्री रोग विभाग की डॉ. रमा घोष को अटैच करने का निर्देश दिया है।

                      मालूम हो कि दो दिन पहले सिरगिट्टी की प्रसूता मुस्कान खान को जिला अस्पताल के स्टाफ ने अस्पताल में भर्ती नहीं किया। मुस्कान खान को ब्लड टेस्ट के बाद जिला अस्पताल से करीब रात्रि 10 बजे लौटा दिया गया। नर्स ने बताया कि अस्पताल में बेड़ नहीं है। निवेदन करने के बाद भी मुस्कान खान को अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। मुस्कान ने कहा कि वह गरीब है। चल फिर नहीं सकती है। बावजूद इसके उस पर किसी ने दया नहीं की। मामले को सबसे पहले सीजी वाल ने गंभीरता से उठाया था।

                           सीजी वाल ने समाचार में लिखा था कि प्रसूता साथी महिलाओं के साथ पैदल घर लौट रही थी। इसी दौरान गैंग खोली के पास तेज दर्ज हुआ। आनन फानन में एक टूटे हुए लावारिस मकान में उसका प्रसव कराया गया। दूसरे दिन चार बजे तक मुस्कान और नवजात को कोई देखने नहीं आया। सीजी वाल ने जब मामले को प्रमुखता से उठाया तो जिला प्रशासन में खलबली मच गयी। देर शाम स्वास्थ्य महकमें ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। फिलहाल मां और बेटे दोनो स्वस्थ्य हैं।

       मालूम हो कि मुस्कान का पति मो.शाहीद का दो महीने पहले हार्ट अटैक से मौत हुई है। मो.शाहीद मुस्कान के साथ दो बच्चों के साथ गर्भ में पल रहे बच्चों को अपने पीछे छोड़ कर गया। मुस्कान ने सीजी वाल को बताया कि उसके आगे पीछे कोई नहीं है। जिस दिन दर्द हुआ..सबसे पहले सिरगिट्टी स्थित स्वास्थ्य केन्द्र में गयी। लेकिन डॉक्टरों ने भर्ती से इंकार कर दिया। आस पास के लोगों के साथ देर शाम जिला अस्पताल आयी । नर्स और डॉक्टर ने भर्ती करने से इंकार कर दिया था। फाटक तक आटो से आयी…इसके बाद गैंग खोली आने तक तेज दर्द हुआ। साथी महिलाओं ने एक सूनसान घर में प्रसव कराया।

कलेक्टर की अध्यक्षता में जांच कमेटी

             मामले को गंभीरता से लेते हुए कमिश्नर निहारिका बारिक सिंह ने संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं को जांच का अादेश दिया। प्रारंभिक जांच को आधार मानकर निहारिका बारीक ने घटना के दिन जिला अस्पताल में कार्यरत नर्स सीमा सिंह और डाॅ.रमा घोष को निलंबित कर दिया। कमिश्नर ने मामले में विस्तृत जांच के लिए अतिरिक्त कलेक्टर बिलासपुर की अध्यक्षता में जांच कमेटी का गठन किया है। संभागायुक्त  ने संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवायें से नर्स सीमा सिंह को तत्काल निलंबित करने को कहा है। जांच पूर्ण होने तक स्त्रीरोग विभाग की डाॅ.रमा घोष को अटैच करने का आदेश दिया है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...