हॉकर गली में चला बुलडोजर..नया आशियाना पहुंचे विस्थापित लोग

IMG-20170531-WA0004   बिलासपुर— वन विभाग कार्यालय से बलराम टाकीज तक सड़क चौड़ीकरण के तहत निगम निगम ने मकानों पर बुलडोजर चलाया। सरकारी जमीन पर काबिज लोगों को उस्लापुर और मिनोचा कालोनी में बनाए गए मकानों में शिफ्ट किया गया। मकान हटाने की कार्रवाई के दूसरे दिन स्थानीय लोगों ने किसी प्रकार का विरोध नहीं किया। यद्यपि निगम प्रशासन ने सुबह से ही सुरक्षा के पुख्ता  इंतजाम कर रखे थे। महिला पुलिस के साथ पटवारी आरआई समेत बिजली विभाग के कर्मचारी भी मौके पर मौजूद थे।

                           यातायात दबाव कम करने वन विभाग से सिंधी कालोनी होकर बलराम टाकीज रोड को जोड़ने वाली स़ड़क को 80 फिट चौडा किया जाएगा। मिट्टी हाकर गली में एक दिल पहले जब निगम की टीम अतिक्रमण हटाने पहुंची तो भारी विरोध का सामना करना पड़ा था। अतिक्रमण हटाने दूसरे दिन निगम निगम की टीम भारी सुरक्षा व्यवस्था को साथ मिट्टी तेल हाकर गली पहुंची। दोपहर तक शांति के साथ मकानों को तोड़ा गया। इसके अलावा लोगों को तत्काल आवास अलाट कर मिनोचा कालोनी और उस्लापुर भेजा गया।

                    कार्रवाई के दौरान कुछ लोगों ने हल्का विरोध किया। लेकिन मामला शांत हो गया।दिन में करीब दो बार आयुक्त सौमिल रंजन ने मौके का दौरा कर हालात का जायजा लिया।

महिला और पुलिस के बीच झड़प

                                  तोड़फोड़ कार्रवाई के दौरान करीब तीन बजे एक परिवार की दो महिलाओं और पुलिस के बीच IMG-20170531-WA0003जमकर झ़ड़प हुई। महिला ने कार्रवाई के दौरान अपने आपको घर के अंदर बंद कर लिया। जोर जोर से चिल्लाकर घर नहीं छोड़ने की बात कही। किसी तरह पुलिस के साथ निगम कर्मियों ने महिला को बाहर निकालने का प्रयास किया। यकायक बंद कमरे से मोना कुर्रे बाहर निकली और निगम कार्रवाई की विरोध करने लगी। पहले तो उसे समझाने का प्रयास किया गया। लेकिन वह दरवाजे पर चाकू लेकर खडी हो गयी। चाकू छुड़ाने के दौरान पुलिस और मोना कुर्रे के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। जिसके चलते महिला के अलावा कुछ पुलिस वालों को चोट पहुंची। चाकू छीनने के दौरान एक एसआई की उंंगली में भी चोट आयी है।

                                  मोना कुर्रे ने सिविल लाइन पहुंच कर शिकायत की। उसने बताया कि उसके साथ निगम अधिकारियों और पुलिस वालों ने मारपीट की है। कुछ लोगों ने उसके कपड़े भी फाड़े और गाली गलौच की है।

जनता कांग्रेस का विरोध

                    जनता कांग्रेस के नेताओं ने मौके पर पहुंचकर निगम की कार्रवाई के तरीकों का विरोध किया। विश्वंभर गुलहरे, विकास दुबे, विक्रांत तिवारी,  गजेन्द्र श्रीवास्तव समेत दर्जन से अधिक नेताओं ने मिट्टी तेल गली पहुंचकर स्थानीय लोगों से कार्रवाई के दौरान मारपीट और गाली गलौच करने का आरोप लगाया। जनता कांग्रेस नेताओं ने निगम अधिकारियों से कहा कि किसी के साथ दुर्व्यवहार ना किया जाए। यदि किसी के साथ गाली गलौच या मारपीट की होती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

लोगों की भीड़ में दिखा पार्षद

                     IMG20170531144321   सिन्धी कालोनी स्थित मिट्टी हॉकर गली में तोड़फोड़ के दौरान लोगों को समझाते पार्षद शैलेन्द्र यादव भी नजर आए। लोगों को विश्वास दिलाते रहे कि किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। पटवारी और आरआई से मिलकर आवास वितरण के दौरान आने वाली समस्याओं को दूर किया। यहां तक की सामान चढ़ाने और निकालने का भी काम किया। शैलेन्द्र ने बताया कि यहां किसी प्रकार का आक्रोश नहीं है। सभी लोगों ने शांति के साथ मकान खाली किया। विस्थापित लोगों को मिनोचा कालोनी और उस्लापुर में मकान दिया जा रहा है। फिर भी लोगों को किसी प्रकार की समस्या आती है तो व्यक्तिगत रूप से अधिकारियों से मिलकर उसे दूर करेंगे।

                                  शैलेन्द्र ने बताया कि मकान टूटने और सामान समेटने में परेशानी तो होती ही है। हो सकता है पुलिस और निगमकर्मियों के साथ स्थानीय लोगों में थोड़ा बहुत झड़प हुई है। लेकिन मकान खाली करने को लेकर किसी प्रकार का विरोध नहीं है। लोग खुशी खुशी घर छोड़कर अपने नए घर में जा रहे हैं।

loading...
loading...

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...