रोज योगा करने वाले को डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नही-संजय

There is no slider selected or the slider was deleted.


jiwan_chakra_yog_sanjay_shri_indexरायपुर(सीजीवाल)।
गुरू घासीदास संग्रहालय,रायपुर में हुए अंतराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में प्रदेश प्रवक्ता और आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव ने कहा कि देश में रूपांतरण लाने के लिए योग को अपनाना सही मायनों में एक क्रांतिकारी कदम है, क्यांेकि व्यक्तिगत रूपांरण के बिना, सारे संसार का रूपांतरण नहीं किया जा सकता। योग एक ऐसा सिस्टम है जो तार्किक तौर पर उचित तथा वैज्ञानिक रूप से मान्य है। यौगिक सिस्टम को हर व्यक्ति तक ले जाने का प्रयत्न, मनुष्य के जीवन में अच्छी सेहत, कल्याण तथा प्रचुरता की इच्छा को पुरा करने से जुड़ा है। जो व्यक्ति नियमित रूप से योग करता है, उसे चिकित्सक के पास जाने की आवश्यकता नहीं है।श्रीवास्तव ने कहा कि जहां योग व खेल की आदत हो, वहां पर अपराध कम होते है। हमारे देश में अधिकांश लोगो मंे नशे की प्रवृत्ति पाई जाती है, जिससे छुटकारा पाने के लिए सभी को योग करना आवश्यक है।योग की क्रियाएं करना तथा इसे अपने जीवन की दिनचर्या में ढाल लेना ही अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की सार्थकता है।

                                                       उन्होने कहा कि हम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मना रहे हैं, जो एक हर्ष का विषय है । एक बार योग अभ्यास करने से ही शरीर में ताजगी महसूस होती है, अगर इसे नियमित रूप से किया जाय तो निश्चित रूप से व्यक्ति स्वस्थ रहेगा, निरोग रहेगा।उन्होने आगे कहा कि केन्द्र सरकार ने योग के माध्यम से पूरे विश्व को एक सूत्र में पिरोया है और योग का व्यापक प्रचार कर इसे जन आंदोलन का रूप दिया है।

                                                     श्रीवास्तव ने कहा कि योग एक प्राचीन भारतीय विद्या है, जो बहुत से रोगों और स्वास्थ्य विकारों के उपचार मंे अत्यंत लाभकारी है । यह शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य और कुशलता के लिए एक समग्र पद्धति है। उन्होने सामूहिक योग  प्रदर्शन के सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया और उनसे नित्य योग करने का आग्रह किया, क्योंकि एक स्वस्थ मन और स्वस्थ तन मंे ही ईश्वर का वास होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *