भाजपा–कांग्रेस में पैर और पायल का रिश्ता…अमित जोगी

jogi-7रायपुर—बिलासपुर जिला प्रशासन से जाति प्रमाण पत्र निरस्त किये जाने पर अमित जोगी ने कहा कि सीएम जल्दी में है। उन्हें नियम कानून का रेड सिग्नल नहीं दिखाई दे रहा है। इसलिए जाति प्रमाण के निरस्त हो जाने पर मुझे किसी प्रकार का आश्चर्य नहीं है।
                       जाति प्रमाण पत्र निरस्त हो जाने की खबर के बाद मरवाही विधायक ने कहा कि राज्य की छानबीन समिति सुप्रीम कोर्ट की हाई पावर कमेटी है ही नहीं। दरअसल जाति मामले की सीएम पावर कमेटी ने की है।  सीएम के अनुसार रिपोर्ट को तैयार किया गया है। अमित जोगी ने कहा कि सीएम जल्दी में है। उन्हें न्यायपालिका का रेड सिग्नल दिखाई नहीं दे रहा है।
           जोगी ने कहा कि झूठी रिपोर्ट बनाने में सुप्रीम के नियमों की धज्जियां उड़ाई गयी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने जाति निश्चित करने हाई पॉवर कमेटी में एक विजिलेंस सेल बनाया है। यदि विजिलेंस सेल ने जाति का सही होना पाया तो धारा 21 के तहत हाई पावर कमेटी को विजिलेंस की रिपोर्ट को मानना होगा। हमारे मामले में बिलकुल उल्टा हुआ है। हाईपावर कमेटी ने विजिलेंस सेल की रिपोर्ट को नज़रअंदाज कर…अपनी रिपोर्ट हमारे खिलाफ लिखी है। ऐसा करना सुप्रीम कोर्ट की अवहेलना है। हाईपॉवर कमिटी में छ सदस्य होने चाहिए। लेकिन नागपुर की एक अधिकारी ने तीन तीन सदस्यों की भूमिका निभाई है।
             अमित जोगी ने कहा कि जाति के मुद्दे का राजनितिक गुब्बारा सीएम ने फुलाया है…गुब्बारे की हवा न्यायालय में निकालेंगे। जोगी ने कहा कांग्रेस और भाजपा के बीच पैर और पायल का रिश्ता है। जब पैर हिलता है…तब पायल खनकती है। विधानसभा चुनाव में दोनों दलों का अहम् टूटने वाला है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...