8 सदस्यीय टीम करेगी कन्ट्री क्लब की जांच…अतिरिक्त कलेक्टर का आदेश

K.D.KUNJAMबिलासपुर।कोनी थाना क्षेत्र के सेन्दरी निवासी रंजीत और स्थानीय व्यवसायी की शिकायत पर कन्ट्री क्लब मामले में जांच टीम का गठन किया गया है। जांच टीम में कुल आठ सदस्यों को शामिल किया गया है। राजस्व अधिकारी और पटवारी शिकायत की जांच करेंगे। यह बातें एडिश्नल कलेक्टर के.डी.कुंंजाम ने बतायी। उन्होने कहा कि मामले में कुछ लोगों ने जांच की मांग की थी। रिपोर्ट एक सप्ताह के अन्दर पेश करने को कहा गया है।
(सीजी वाल के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

                       कन्ट्री क्लब सरकारी जमीन पर है। मामले को लेकर पिछले कुछ दिनों से भाजपा नेताओं के अलावा जोगी कांग्रेस ने जांच की मांग की थी। सेंदरी के किसी रंजीत और एक स्थानीय व्यवसायी ने भी कन्ट्री क्लब को सरकारी जमीन पर होना बताया है। लिखित जांच की मांग और शिकायतों को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने कन्ट्री क्लब मामले में जांच का आदेश दिया है।

                         जानकारी के अनुसार कन्ट्री क्लब निजी या सरकारी जमीन पर बना है इसके लिए आठ सदस्यीय जांच टीम का गठन किया गया है। जांच टीम में तहसीलदार के अलावा भू-अभिलेख शाखा अधीक्षक, तीन आरआई. दो पटवारी और अन्य कर्मचारियों को शामिल किया गया है। एक सप्ताह के भीतर जांच टीम जिला प्रशासन के सामने रिपोर्ट पेश करेगी।

जांच का आदेश..कुंजाम

                   Er. Atal Shrivatstavaकन्ट्री क्लब मामले में जांच टीम का गठन किया गया है। टीम में कुल आठ सदस्यों को रखा गया है। भू-अभिलेख अधीक्षक के अलावा तीन आरआई, दो पटवारी और अन्य राजस्व के कर्मचारियों को टीम में शामिल किया गया है। मामले में सेंदरी के किसी रंजीत ने लिखित शिकायत कर बताया है कि कन्ट्री क्लब सरकारी जमीन पर बनाया गया है। अतिरिक्त कलेक्टर के.ड़ी.कुंजाम ने बताया कि टीम को एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है। रिपोर्ट मिलने के बाद मामले की जानकारी दी जाएगी।

आठ नहीं 16 सदस्यीय टीम से हो जांच

                               पीसीसी महामंत्री और कन्ट्री क्लब के मालिक अटल श्रीवास्तव ने बताया कि आठ नहीं बल्कि 16 सदस्यीय टीम जांच करे। पहले भी एक शिकायत में कन्ट्री क्लब मामले की जांच हो चुकी है। हम चाहते हैं कि आठ नहीं…बल्कि 16 सदस्यीय टीम जांच करे। जरूरत हो तो किसी बड़ी जांच एंजेंसी को भी इसमें जो़ड़ा जाए। लेकिन फायनल रिजल्ट आना चाहिए। क्योंकि बार बार कन्ट्री क्लब को लेकर जांच की बात कही जाती है। अटल ने कहा कि मैं जांच से नहीं डरता हूं। रिपोर्ट आने के बाद उसे मीडिया में भी प्रकाशित किया जाए। लोगों को भी इस मामले की जानकारी होनी चाहिए कि कन्ट्री क्लब सरकारी जमीन पर है या निजी जमीन पर…।इसके बाद लोगों को मालूम हो जाएगा कि इसके पीछे साजिश क्या है…और साजिशकर्ता कौन है।

(सीजी वाल के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...