अन्तर्राष्ट्रीय कार्यशाला में छग की तारीफ..हर्षिता ने कहा…महिला तस्करी पर सभी ने जताई चिंता

बिलासपुर— महिलाओं की अनैतिक व्यापार को लेकर मुम्बई में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में देश विदेश के दिग्गज लोगों ने शिरकत किया। महिलाओं के साथ हो रहे अनैतिक व्यवहार और व्यापार पर चिंता जाहिर की। साथ ही इस पर कड़ाई से रोकथाम पर विचार विमर्श किया गया। कार्यशाला का आयोजन अंतर्राष्ट्रीय जस्टिस मिशन और महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग के संयुक्त तत्वावधान में किया गया।

                 महिलाओं के अनैतिक व्यापार और व्यहार पर कड़ाई से रोकथाम क लिए मुम्बई में दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का आयोजन 27 और 28 जुलाई को जुहू स्थित मैरियट हॉटल में किया गया। कार्यक्रम में विदेशी प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया। कार्यशाला में महाराष्ट्र मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, महाराष्ट्र महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे और फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार बतौर अतिथि मौजूद थे।

                        सीजी वाल को छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने बताया कि कार्यशाला में छत्तीसगढ़ से बतौर महिला आयोग अध्यक्ष होने के कारण मुझे शिरकत करने का अवसर मिला। इसके अलावा विभा राव और भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा अध्यक्ष पूजा विधानी भी कार्यक्रम में शामिल हुईं।

                हर्षिता पाण्डेय ने बताया कि दो दिवसीय कार्यक्रम में मानव तस्करी विशेष रूप से महिलाओं के अनैतिक व्यापार पर चिंता जाहिर की गयी। भारत समेत विश्व के सभी देशों में इसे प्रभावशाली तरीके से कार्य करते हुए लगाम कसने की बात कही गयी। मानव तस्करी खासतौर पर महिलाओं के अनैतिक व्यापार को बंद कराने प्रभावशाली तरीके से क्रियान्वयन और रणनीति तैयार करने को कहा गया।

                           कार्यशाला में करीब 20 देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। घाना की द्वितीय  महिला हाजिया एस. बाउमिया, आईजीएम के फाउंडर गैरी होगन,फिलीपींस, केन्या, हांगकांग, बैंकाक, जर्मनी, कंबोडिया, एवं बोल्विया समेत अन्य देशों के प्रतिनिधियों ने अपनी बातों को सबके सामने रखा।

                 भारत के पंजाब, राजस्थान, उत्तरांचल, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, मेघालय, उड़ीसा, हरियाणा, असम, आंध्र प्रदेश समेत अन्य राज्यों की महिला आयोग की अध्यक्ष और अन्य महिला प्रतिनिधि शामिल हुईं।

                हर्षिता पाण्डेय ने बताया कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जहां प्लेसमेंट एजेंसियों के लिए छत्तीसगढ़ प्राइवेट प्लेसमेंट एजेंसी रेगुलेशन एक्ट 2013 लागू किया गया है। दो दिवसीय कार्यशाला में छत्तीसगढ़ की जमकर तारीफ हुई। विदेशी और देशी प्रतिनिधियों ने इस प्रकार के एक्ट को अपने क्षेत्रों में लागू करने की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *