जिला पंचायत में जोगी बोले-क्यों नहीं लगाया वर्षा मापक यंत्र

IMG20170817125923बिलासपुर— जिला पंचायत सभागार में सामान्य सभा की बैठक हुई। बैठक में मरवाही विधायक अमित जोगी ने भी शिरकत किया। कृषि, खाद्य, स्वास्थ्य, प्रधानमंत्री आवास योजना, पीएचई, पीडब्लूडी के अधिकारियों ने प्रोग्रेस रिपोर्ट के साथ जनप्रतिनिधियों के सवालों का जवाब दिया। मरवाही विधायक अमित जोगी ने मरवाही,पेन्ड्रा और गौरेला तहसील की अनावरी रिपोर्ट पर झूठा बताया। उन्होने सवाल किया कि किस आधार पर तीन तहसीलों में बेहतर बारिश होने बात कही जा रही है। कृषि समेत और अन्य विभागों की रिपोर्ट को तथ्यहीन बताया। किसान फसल बीमा योजना पर भी सवाल किये।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall

                         जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक विशेष थी। मरवाही विधायक अमित जोगी ने सभा की बैठक में मौजूद होकर अधिकारियों से सवाल जवाब किया। इस दौरान जगदीश कौशिक, जितेन्द्र पाण्डेय,रमेश कौशिक,चांदनी भारद्वाज, बिल्हा विधायक प्रतिनिधि ने अधिकारियों को जमकर घेरा।

                                                      उप-संचालक कृषि विभाग अहिरवार को जनप्रतिनिधियों के तबाड़तोड़ सवालों का सामना करना पड़ा है। अहिरवार ने क्रमवार बिलासपुर जिले के सभी तहसीलों में फसल बीमा करवाने वाले किसानों की संख्या को सामने रखा। उप-संचालक ने बताया कि सर्वाधिक फसल बीमा मस्तूरी में 2711 और सबसे कम तखतपुर में 109 किसानों का किया गया है। इस दौरान उन्होने सिंचित असिंचित जमीनो में किए गए बीमित राशि की जानकारी भी दी।

                        अहिरवार ने बताया कि गौरेला पेन्ड्रा और मरवाही में सत्तर प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। इसलिए पांच तहसीलों को ही सूखे की चपेट में शासन ने माना है।

          जनप्रतिनिधियों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश में 76 करोड़ रूपए का बीमा हुआ है। 25 करोड़ बीमा राशि का बंटवारा किया गया है।

                                         अमित जोगी के सवाल का जबाब देते हुए अहिरवार ने कहा कि तहसीलों में वर्षा मापक यंत्र के आधार पर बारिश का आकलन किया जाता है। यह सच है कि शासन ने प्रत्येक 10 किलोमीटर के दायरे में वर्षा मापक यंत्र लगाने को कहा है लेकिन लगाया नहीं गया। जोगी ने कहा कि पिछले बार की तुलना में यदि बारिश मरवाही विधानसभा क्षेत्र में अधिक हुई है तो इसका अर्थ यह नहीं कि तीनों तहसील सूखे की चपेट में नहीं है। क्योंकि पिछले बार की तुलना में कुछ सौ मिलिमीटर ही बारिश अधिक हुई है। जो कि सामान्य से अभी भी बहुत कम है।

                खाद्य विभाग अधिकारी आशुतोष चतुर्वेदी को सामान्य सभा में राशन कार्ड में नाम जोड़ने और काटने की शिकायत का सामना करना प़ड़ा। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि सालों से नाम जोड़ने घटाने का खेल चल रहा है। नाम जो़डने की प्रक्रिया क्या है। अधिकारी को बताना होगा। कई जगह तो राशन दुकान के लोग सालों से मृतक को अनाज बांट रहे हैं। कई दुकान खुलते ही नहीं है। लेकिन अनाज का बंटवारा रजिस्टर में हो जाता है। अाशुतोष चतुर्र्वेदी ने बताया कि शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। लगातार कार्रवाई हो भी रही है।

                                                              चांदनी भारद्वाज समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने प्रदूषित जल,डेंगू,और स्वाइन फ्लू समेत स्वास्थ्य जुड़े मुद्दों को उठाया। सीईओ फारिहा ने केन्द्रीय योजना  की जानकारी दी। प्रधानमंत्री आवास योजना की शिकायतों को नोट किया। आवास योजना में आने वाली तकनीकि परेशानियों के बारे में भी बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *