सोशल मीडियाः कांग्रेस और भाजपा नेता आमने सामने…पुण्यतिथि के बाद नामकरण विवाद

SHAILENDRA JAISAWAL बिलासपुर—(सोशल मीडिया से समाचार)– IMG-20170819-WA0024सोशल मीडिया पर कांग्रेस और भाजपा में मुद्दों को लेकर वार चल रहा है। कांग्रेस से प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव और पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल भाजपा की रीति नीति पर तीखे कमेंट कर रहे हैं। भाजपा जिला महामंत्री रामदेव कुमावत अपने साथियों के साथ कांग्रेस के वार पर महावार कर रहे हैं। दो दिन पहले नेताजी की जयंति को लेकर उठा विवाद अब स्मार्ट सिटी के नाम पर अटक गया है।

                                 दो दिन पहले कांग्रेस नेता शैलेन्द्र जायसवाल ने सोशल मीडिया पर नेताजी की पुण्यतिथि मनाए जाने पर भाजपा का घेराव किया था। शैलेन्द्र ने लिखा कि नेताजी की मौत की पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन भाजपाई उन्हें हथियाना को बेचैन हैं। भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री रामदेव कुमावत ने सोशल मीडिया पर लिखा कि नेताजी किसी पार्टी विशेष के नहीं हैं। कांग्रेस की वर्चस्ववादी नीतियों से तंग आकर अंतिम समय अपने समर्थकों के साथ नई पार्टी बनायी थी। बाद में अंग्रेजों के खिलाफ सशत्र विद्रोह भी किया। कुमावत ने कहा कि कांग्रेसियों ने आंदोलन के समय नेताजी के विचारधाराओं का विरोध किया। आजादी के बाद भी याद नहीं किया। भाजपा ने राष्ट्रवादी नेता को याद किया तो कांग्रेस नेताओं के पेट में दर्द उठना शुरू हो गया है।

स्मार्ट सिटी नामकरण विवाद

                    नेताजी पुण्यतिथि विवाद के बाद शैलेन्द्र जायसवाल ने स्मार्ट सिटी नामकरण विवाद पर भाजपा को भड़का दिया । शैलेन्द्र ने सोशल मीडिया पर लिखा कि सरकार की नीति हैं कि पांचवी तक किसी बच्चे को फेल नहीं किया जाए। बच्चा पढ़ने में कमजोर ही क्यों ना हो। बिलासपुर को भी स्मार्ट सिटी का दर्जा कुछ इसी तरह हासिल हुआ है। छत्तीसगढ़ में रायपुर और बिलासपुर दो बड़े शहर हैं।  रायपुर “मोर रायपुर” लोगो के साथ आगे आया। बिलासपुर “बने बिलासपुर” के नाम से । शैलेन्द्र लिखते हैं कि बने बिलासपुर का अर्थ सुंदर बिलासपुर लेकिन प्रस्ताव बिलासपुर पहुंचकर हमर बिलासपुर ब्रांड में तब्दील हो गया। दरअसल “हमर बिलासपुर” नाम से कुछलोग वाट्सअप ग्रुप चलाते हैं। बिलासपुर को अपनी जागीर समझते हैं। ऐसे लोगों को “बने बिलासपुर” से कोई लेना देना नहीं है।

                    प्रतिक्रिया देते हुए रामदेव कुमावत ने कहा कि शैलेन्द्र को पेट दर्द की शिकायत है। उन्हें केडबरिश टाफी का सेवन करना चाहिए। मोर रायपुर और हमर बिलासपुर निर्विवादित संकल्प है। हमर बिलासपुर सबके सहयोग से नया स्वरूप लेगा। तरक्की और खुशहाली की गाथा बिलासपुर के लोग मिलकर लिखेंगे। हमर बिलासपुर की नई तस्वीर और सुविधाओं का लाभ पूरे प्रदेश को मिलेगा।  कुमावत ने हमर बिलासपुर नाम के समर्थन में कांग्रेस नेता शैलेन्द्र जायसवाल को हद में रहने की सलाह दी है। उन्होने कहा कि शैलेन्द्र को विकास विरोधी बीमारी है। उन्हें अच्छे डाक्टर की जरूरत है। स्मार्ट सिटी की परिकल्पना साकार होने हो रही है। हमर बिलासपुर में अपनेपन का भाव है। कांग्रेस नेता अपनापन की भाषा समझते नहीं हैं। संकीर्ण दायरे से बाहर निकालकर  सकारात्मक सोच को अपनाने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *