हरदीटोना गौशाला में 10 गाय की मौत…कई घायल…राजेन्द्र ने कहा गायों की हुई हत्या

IMG-20170822-WA0032 बिलासपुर—बिल्हा विधानसभा के हरदीटोना गौशाला में करीब 10 गायों की मरने की सूचना है। एक दिन पहले करीब 37 गायों को ट्रक में भरकर धमधा स्थित फूल सिंह गौशाला से लाया गया था। जानकारी के अनुसार गायों को हरदी टोना गौशाला तक फोलगार्ड की निगरानी में लाया गया था। देर रात गाय उतारते समय करीब सात गायों की मौत हो चुकी थी। दर्जन से अधिक गायों को गंभीर चोट पुहंची है। मौके पर जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला और अन्य कांग्रेसी पहुंच गये हैं। राजेन्द्र के अनुसार गायों की मरने की संख्या अधिक हो सकती है। एक गाय ने तो हमारे सामने ही दम तोड़ा है। बची हुई गायों की स्थिति बहुत ही नाजुक है। लगता है कि गायों को महीनो से खाना पीना नहीं दिया गया है।

जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला ने बताया कि बीती रात्रि 37 गायों को धमधा दुर्ग स्थित फूलसिंह गौशाला से बिल्हा लाया गया। जिस ट्रक से गायों को लाया जा रहा था। उसके आगे पीछे फालोगार्ड की निगरानी थी। करीब डेढ़ बजे सभी गायों को  हरदीटोना गौशाला में शिफ्ट किया गया। राजेन्द्र ने सीजी वाल को बताया कि ट्रक से गाय उतारने के पहले ही 7-8 गायों की मौत चुकी थीं। प्रशासन ने आनन फानन में गायों के शव को रफा दफा किया।

                   कांग्रेसियों के साथ मौके पर पहुंचे राजेन्द्र ने बताया कि एक गाय ने हमारे सामने ही दम तोड़ा है। अब तक कुल मिलाकर दस गायों की मौत हो चुकी है। एक दर्जन से अधिक गायों को गंभीर चोट आयी है। यदि इनका इलाज ठीक से नहीं हुआ तो मरने वाली गायों की संख्या अधिक हो सकती है। राजेन्द्र ने बताया कि घायल गायों को दिनभर इलाज भी नहीं दिया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जब शोर मचाया तो देर शाम गायों की इलाज करने पशु चिकित्सक पहुंचे हैं।

                        राजेन्द्र और प्रमोद नायक ने बताया कि धमधा से लायी गयीं सभी गाय बहुत कमजोर हैं..अपने पैर पर खड़ी नहीं हो पा रही हैं। गायों की हालत देखते ही समझ में आ गया कि बहुत दिनों से चारा पानी नहीं दिया गया है। रायपुर और दुर्ग में लोगों की नजर से बचाते हुए सभी गायों को बिल्हा लाया गया है। फालोगार्ड की निगरानी में बिल्हा विधानसभा के हरदीटोना गौशला में शिफ्ट किया गया । सरकार ने मामले को छिपाने का भरपूर प्रयास किया । लेकिन ग्रामीणों और कांग्रेसियों की नजर मामला छिप नहीं पाया।

एसडीएम ने कहा छुट्टी पर हूंIMG-20170822-WA0028

राजेन्द्र के अनुसार इस समय गौशाला में कुल 26 गाय हैं। कुछ मौत के करीब हैं..तो कुछ बहुत  कमजोर हैं। मामले में एसडीएम विरेन्द्र लकड़ा से जानकारी चाही उन्होने मोबाइल पर बताया कि मोबाइल इस समय मैं बाहर हूं। इसलिए इस बारे में बहुत कुछ जानकारी नहीं है।

गुपचुप हुआ पोस्टमार्टम

                         राजेन्द्र ने बताया कि एक तरफ एसडीएम विरेन्द्र लकड़ा कहते हैं कि जानकारी नहीं है। लेकिन उन्ही के आदेश पर आज सभी मृत गायों का पोस्टमार्टम किया गया। लेकिन गायों को दफनाया कहां गया। इसकी जानकारी एसडीएम विरेन्द्र लकड़ा देने बच रहे हैं।

करेंगे आंदोलन

                        राजेन्द्र शुक्ला ने कहा कि गाय के नाम पर वोट मांगने वालों का भांडा फूट चुका है। जगह जगह गायों की स्थिति का पोल खुलने लगा है। धमधा से लाकर कमजोर गायों को बिल्हा विधानसभा के हरदीटोना गौशाला में छिपाने का प्रयास किया गया है। गायों को फालोगार्ड की निगरानी में लाया गया। सरकार को जवाब देना होगा। क्या हरदीटोना स्थित फूलसिंह गौशाला में गायों को मारने के लिये लाया गया है।

            इस मौके पर राजेन्द्र शुक्ला के अलावा,जिला कांंग्रेस महामंत्री प्रमोद नायक, विष्णु धनकर और स्थानीय लोग मौजूद थे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...