36 मॉल बिलासपुर पर लटकेगा पीएनबी का ताला…तहसीलदार ने कहा आदेश तैयार…कल होगा पजेशन का फैसला

IMG20170901150501बिलासपुर । आखिर यह तय हो गया कि शहर के 36 माल में अब पंजाब नेशनल बैंक का कब्जा हो जाएगा। बैंक इस पर संभावना है कि सिंतंबर को अपना ताला लगा लेगी। मामले में हाईकोर्ट के आदेश के आधार पर तहसीलदार ने शुक्रवार को देर शाम अधिकारियों और पार्टी से गहन विचार विमर्श के बाद शनिवार को आदेश जारी करने फैसला किया है। बैंकर ने बताया कि हम लोग 4 सितम्बर को ताला लगाने की मांग कर रहे हैं। लेकिन तहसीलदार ने शनिवार को पांच और सात सिम्बर के बीच किसी तारीख का चुनाव करने को कहा है। हम लोग तहसीलदार के आदेश के बाद 6 सितम्बर को ताला लगाने का फैसला किया है।

                                 जानकारी दी गई है  कि 2013-14 में के.के. गुप्ता , संजय गुप्ता, पिंकी गुप्ता, और नीलम गुप्ता के नाम से बिलासपुर में 36 माल के लिए आईसीआईसीआई  बैंक से 100 करोड़ और पंजाब नेशनल बैंक से 20 करोड़ रुपए का कर्ज लिया गया था। कर्ज के एवज में आज तक एक भी किश्त जमा नहीं की गई। बैंको नें किश्त के लिए दबाव डाला । कर्जदारों पर इसका कोई असर नहीं हुआ। इस बीच आईसीआईसीआई बैंक ने किश्त न मिलने पर वसूली के लिए  अपने लोन का शेयर एक कम्पनी को दे दिया। कम्पनी ने बाद में शेयर पंजाब नेशनल बैंक को दे दिए । पंजाब नेशनल बैंक कुल 120 करोड़ का कर्जदाता हो गया। पीएनबी की यह ब्रांच कटोरा तालाब रायपुर में है।

                                  पीएनबी की ओर से कर्ज की वसूली के लिए लगातार कोशिश चलती रही । लेकिन फिर भी 36 माल विकास प्रायवेट लिमिटेड के मालिकों ने किश्त जमा नहीं की। मामला पूर्व कलेक्टर अम्बलगन पी. तक पहुंचा तो उन्होने भी किस्त न जमा कर पाने की स्थिति में 36 माल का कब्जा पीएनबी को देने की बात कही थी। लेकिन इस पर अमल नहीं हो सका। बाद में मामला बिलासपुर हाईकोर्ट पहुंच गया। जहां  न्यायाधीश मनीन्द्र श्रीवास्तव ने 36 माल के मालिक को 6 सप्ताह के भीतर 5 करोड़ रुपए जमा करने कहा था। यह मियाद पिछले 23 अगस्त को खत्म हो गई।

        मियाद खत्म होने के बाद पीएनबी के प्रतिनिधि अभिलाष गौतम ने बिलासपुर तहसील कार्यालय में पहुंचकर हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक 36 माल का कब्जा दिलाने का अनुरोध किया। इस पर कोई कार्रवाई होती इसके पहले 36 माल के मालिक ने हाईकोर्ट में अंतरिम राहत के लिए  याचिका पेश कर फिर से समय मांगा। याचिका पर हाईकोर्ट के न्यायाधीश ने एक हफ्ते का और समय दिया। समय पर रुपया जमा न होने पर 36 माल का कब्जा पंजाब नेशनल बैंक को देने का आदेश दिया। यह मियाद भी खत्म हो गयी। 36 माल के मालिकों से बैंक को एक भी रुपया नहीं मिला। पीएनबी के प्रतिनिधि फिर तहसील ऑफिस पहुंचे और आदेश का पालन कराने की मांग की। 36 माल का कब्जा दिलाने का अनुरोध किया।city_mall_36_index

                                       खबर मिली है कि दिन भर की मशक्कत के बाद तहसीलदार नें 36 माल का कब्जा पीएनबी को देने के लिए संभावित तारीख 6 सितम्बर को तय किया है।

              बैंकर पार्टी ने बताया कि 31 तारीख अंतरिम याचिका फैसला आने के बाद 36 मॉल की तरफ से हॉटल मेरियाट के मैनेजर ने पचास लाख देने को कहा। जबकि कोर्ट ने 31 अगस्त को आदेश दिया है कि बैंकर पार्टी को पजेशन दिया जाए। हम लोगों ने आज के लिए पजेशन दिलाने को कहा। लेकिन व्यस्तता का हवाला देकर तहसीदार ने देर शाम तारीख देने का फैसला किया। फिर संभावित तारीख बताकर कार्यालय से चले गए। फिर देर शाम तक लौटे नहीं।

पांच तारीख के बाद कोई भी तारीख

              तहसीलदार देवी सिंह उइके ने कहा कि पांच सितम्बर तक प्रशासन की व्यस्तता है। दो बड़े बड़े त्यौहार हैं। बकरीद और गणेश विसर्जन का पर्व है। ऐसी सूरत में चार या पांच सितम्बर की तारीख देना संभव नहीं है। संभावित है कि 6 सितम्बर को पजेशन दिया जा सकता है। फिर भी अंतिम बार दोनों पक्षकारों से बातचीत किया जाएगा। तहसीलदार उइके ने कहा कि कोर्ट का आदेश है पजेशन देना ही है…एक से सात सितम्बर का समय है।

                                                   बहरहाल है 36 माल पर बैंक का ताला लगना तय है। बहुत कुछ सम्भावना है कि ताला 6 सितम्बर को ताला लग जाए। बैंकर पार्टी ने बताया कि तहसीलदार उइके ने शनिवार को दोपहर 12 बजे बुलाया है। उन्होने कहा है कि आदेश की कापी तैयार है। दस्तखत के बाद पत्र दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *