पुलिस ने किया हत्या का खुलासा-मोबाइल चालू रख,दे रहें थे झांसा

IMG-20170904-WA0037 बिलासपुर— चिल्हाटी स्थित सिवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में 21 अगस्त को मिले शव की पहचान के बाद पुलिस ने हत्या का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने हत्या के आरोप में 5 लोगों को हिरासत में लिया है। हत्यारों की सूची में एक महिला भी शामिल है। महिला का नाम प्रिया कश्यप है। प्रिया कश्यप हत्याकाण्ड का मुख्य आरोपी अनुज कश्यप की पत्नी है।

                                हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए आईएएस शलभ सिन्हा और नीरज चन्द्राकर ने बताया कि 17 अगस्त को सरकण्डा थाना में नरेश कौशल निवासी अशोकनगर ने बताया कि उनका बेटा अनिल कश्यप शाम से गायब है। नरेश कौशल ने बताया कि अनिल 17 अगस्त को शाम मोटर सायकल निकला लेकिन लौटा नहीं। पुलिस ने नरेश कौशल की शिकायत को गुमशुदा में दर्ज कर मामले में छानबीन की बात कही। 21 अगस्त को जानकारी मिली कि चिल्हाटी स्थित सिवरेज ट्रीटमेंट प्लांट चैम्बर में किसी पुरूष की नग्न लाश तैर रही है। पुलिस ने लाश को बरामद कर नरेश कौशल को दिखाया। नरेश ने बताया कि लाश अनुज कश्यप की हो सकती है।

                               शव को पीएम के लिए भेजा गया। रिपोर्ट में बताया गया कि युवक की मौत गला घोटने से हुई है। जानकारी के बाद पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव के निर्देश पर आईएएस शलभ सिन्हा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चन्द्राकर और अर्चना झा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया। मामले को जल्द से जल्द सुलझानेे का निर्देश दिया।

                  शलभ सिन्हा और नीरज चन्द्राकर ने बताया कि अनिल कौशल के लापता होने के बाद भी उसका मोबाइल तीन दिनों तक चालू था। इस बीच अनिल कौशल के रिश्तेदारों से ब्लड सैंपल लेकर डीएनए जांच की तैयारी की गयी। साथ ही अनिल कौशल के दोस्तों पर भी नजर रखा गया।

                         शलभ सिन्हा ने बताया कि इसी बीच मुखबिर से जानकारी मिली कि अनिल कौशल का दोस्त अनुज कश्यप की गतिविधियां संदिग्ध है। पुलिस ने तत्काल अनुज कश्यप को पकड़कर पूछताछ की। पहले तो अनुज ने पुलिस को बरगलाने का प्रयास किया…लेकिन बाद में टूट गया। अनुज कश्यप ने बताया कि उसने एक साल पहले प्रिया वैष्णव से शादी की। खर्च के लिए अनिल कौशल से 1 लाख अस्सी हजार रूपए उधार लिया। इस बीच आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण रूपया लौटा नहीं सका। अनिल लगातार रूपयों की मांग कर रहा था।

                                   अनुज ने पुलिस को बताया कि कर्ज लौटाने से बचने के लिए पत्नी प्रिया और दोस्त दिनेश गोंड के साथ मिलकर अनिल कौशल को ठिकाने लगाने का प्लान तैयार किया। योजना को अंजाम तक पहुंचाने के लिए चिल्हाटी सिवरेज प्लांट को चुना।  17 अगस्त की शाम अनिल कौशल को बताया कि एक लड़की की व्यवस्था है यदि अय्यासी करना है तो चलो।अनिल कौशल तैयार हो गया।IMG-20170904-WA0036

प्लान को सफल बनाने अनुज ने अपनी पत्नी प्रिया और दिनेश को मुंह पर स्कार्फ बांधकर मोटरसायकल से पहले ही चिल्हाटी रवाना कर दिया। अनुज अपनी स्कूटी से अनिल को चिल्हाटी ले गया। मौके पर अनुज की पत्नी और दोस्त पहले से ही मौजूद थे। लघुशंका के बहाने अनुज ने स्कूटी रोका। इसी बीच तीनों ने स्कार्फ से अनिल कौशल का गला दबाया। कपड़ा उतारकर सिवरेज ट्रीटमेन्ट चैम्बर में फेंक दिया।

शलभ सिन्हा के अनुसार अनुज ने बताया है कि हत्या के बाद मृतक अनिल की दो मोबाइल को अपने दोस्त अनीश चतुर्वेदी और पृथ्वीराज चौहान को दिया। साथ ही हिदायत दी कि मोबाइल को तीन चार दिन तक चालू रखे। ताकि पुलिस को गुमराह किया जा सके। मृतक का कपड़ा,जूता,बेल्ट सीपत के नहर में फेंक दिया । मृतक की मोटर सायकल अनीश के साथ रेलवे स्टेशन सायकल स्टैण्ड में जमा किया।

शलभ ने बताया कि अनुज की निशानदेही पर हत्या में शामिल दिनेश गोंड,प्रिया कश्यप,अनीश चतुर्वेदी और पृथ्वीराज चौहान को पकडा गया। सभी ने हत्या का अपराध कबूल किया है। मृतक की  मोटरसायकल,बेल्ट,कपडा, जूता,दो नग मोबाइल के अलावा अनुज की स्कूटी, दिनेश गोंड की मोटरसायकल, को जब्त कर लिया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मृतक अनिल कौशल पिता नरेश कौशल सरकंडा थाना क्षेत्र के अशोक नगर निवासी है। आरोपी अनुज कश्यप पिता सरजू प्रसाद उम्र तीस साल शिवघाट का रहने वाला है।  दिनेश गोंड पिता खोलबहरा उम्र 28 साल ईमलीभाठा में रहता है। अनिल चतुर्वेदी पिता रामलाल चतुर्वेदी उम्र 27 साल पुराना सरकंडा में घर है। पृथ्वीराज चौहान पिता दरश राम उम्र 24 साल ईमलीभाठा में रहता है। प्रिया कश्यप पति अनुज कश्यप उम्र 20 शिवघाट की रहने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *