CMD में छात्रों का हंगामा,केमेस्ट्री लेब में तोड़फोड़,मैनेजमेंट ने की पुलिस से शिकायत

IMG-20171011-WA0028 IMG-20171011-WA0029बिलासपुर— पुराने छात्र नेताओं ने सीएमडी कालेज पहुंचकर नव नियुक्त प्राचार्य को हटाने के लिए अभूतपूर्व हंगामा किया। आरोप है कि छात्रों के गुट ने रसायन शास्त्र प्रयोगशाला में तोड़फोड़ भी की है। प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नव नियुक्त प्राचार्य डी.के तिवारी को हटाए जाने की मांग की है। छात्रों का आरोप है कि नव नियुक्त प्राचार्य की डिग्री फर्जी है। ऐसे व्यक्ति को प्राचार्य पद से हटाया जाए।

                प्रबंधन की सूचना पर पुलिस भी पहुंची। इसके बाद हंगामा करने वाले सभी तितर बितर हो गये। सीएमडी प्रबंधन ने पुराने छात्र नेता और नीरज घोरे के खिलाफ तारबाहर थाने में शिकायत की है। इसके अलावा पुलिस कप्तान से मिलकर दोनों छात्रों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने की मांग भी है।

                                        एक दिन पहले सीएमडी प्रबंधन ने दुष्कर्म के आरोप में फंसे ड़ॉ.डी.के.चतुर्रवेदी को बर्खास्त कर नए प्राचार्य की नियुक्ति की है। डी.के तिवारी के पदभार लेते ही आज छात्रों ने सीएमडी कालेज पहुचकर जमकर हंगामा किया। पुराने छात्र नेता और नीरज घोरे की अगुवाई में छात्रों के हुजुम ने नए प्राचार्य को हटाने की मांग की है। छात्रों का आरोप है कि नव नियुक्त प्राचार्य की डिग्री फर्जी है। ऐसे लोगों के प्राचार्य बनने से छात्रों का भविष्य अंधेरे में चला जाएगा। पुराने छात्र नेता और नीरज घोरे कालेज के अन्दर घुसे और जमकर नारेबाजी भी की।

            इस दौरान छात्रों की भीड़ रसायन शास्त्र प्रयोगशाला में घुसकर तोड़फोड़ भी है। मौके पर तैनात तारबाहर पुलिस इस दौरान लाचार नजर आयी। इसके बाद सिविल पुलिस और तारबाहर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस संख्या को देखते ही छात्रों का हुजुम नौ दो ग्यारह हो गया। इस दौरान पुलिस ने छात्रों के खिलाफ हल्का बल प्रयोग किया। कुछ लोगों को चोट भी आयी है।

पुलिस कप्तान से शिकायत

               IMG-20171011-WA0030  सीएमडी कालेज के प्राचार्य और प्राध्यकों ने घटना की लिखित शिकायत पुलिस प्रशासन से की है। सीएमडी प्रबंधन ने बताया कि हंगामा करने वाले में ज्यादातर छात्र महाविद्यालय के बाहर से हैं। एक पुराना छात्र नेता और नीरज घोरे वर्तमान में कालेज के छात्र भी नहीं है। दोनों ने बाहरी लोगों के साथ कालेज में घुसकर तोड़फोड़ की है। घटना के दौरान रसायन शास्त्र प्रयोगशाला में छात्र और छात्राएं प्रायोगिक कार्य में थे। इसी दौरान बाहरी छात्रों ने प्रयोगशाला के अन्दर पहुंचकर उपकरणों को तोड़ा। यद्यपि कोई घायल नहीं हुआ। लैब में खतरनाक केमिकल रखे हुए हैं। यदि केमिकल के चपेट में कोई आ जाता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

                                           सीएमडी प्रबंधन ने पुलिस प्रशासन से लिखित शिकायत कर दोनों छात्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। प्रबंधन ने तोरवा थाने में भी शिकायत की है।

हंगामा शांत कराने पहुंची तीन थानों की पुलिस

                  प्राचार्य को हटाने की मांग को लेकर एबीव्हीपी के अलावा एनएसयूआई ने भी हंगामा किया। जब हंगामा करने वाले छात्र तोरवा पुलिस के नियंत्रण से बाहर हो गए। तो पुलिस प्रशासन ने सिविल लाइन पुलिस और तारबाहर पुलिस को सीएमडी कालेज भेजना पड़ा। इस दौरान पुलिस ने छात्रों पर बल प्रयोग भी किया। पुलिस का रूप देखते ही हंगामा करने वाले छात्र नौ दो ग्यारह हो गए। इस दौरान एनएसयूआई नेता अमितेष राय भी प्रबंधन की तानाशाही पर उंगाली उठाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *