अंतर्राज्यीय चोर गिरोह का पर्दाफाश…2 बंग्लादेशी समेत 3 फरार…1 आरोपी गिरफ्तार..पेचकस से करते थे लाखों का वारा-न्यारा

IMG-20171026-WA0057बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस ने अन्तर्राज्यी चोर गिरोह के एक सदस्य को पकड़ा है। जबकि तीन आरोपी अभी भी फरार हैं। फरार आरोपियों में एक भारतीय और दो बंग्लादेशी युवक हैं। चौथे आरोपी को पुलिस ने पश्चिम बंगाल से हिरासत में लिया है। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है। आरोपी ने स्वीकार किया है कि चारों ने मिलकर बिलासपुर में जगह-जगह 6 से 7 चोरी की घटना को अंजाम दिया है।

                       बिलासपुर पुलिस ने अन्तर्राज्यी चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह में शामिल चार आरोपियों में से दो पश्चिम बंगाल के कोलकाला और दो बंग्लादेश के रहने वाले हैं। पुलिस ने गिरोह के एक सदस्य को कोलकाता के टांगर थाना से हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए आरोपी का नाम अकबर अली पिता स्वर्गीय इकबाल अली है। अकबर को पश्चिम बंगाल में कोलकाता के टागरा थाना क्षेत्र से हिरासत में लिया गया है।

cfa_index_1_jpg

                                 जानकारी के अनुसार पुलिस हिरासत में अकबर अली ने बताया कि गिरोह के चारो सदस्य कोलकाता से 7 अक्टूबर 2017 को ट्रेन से चलकर 8 अक्टूबर को बिलासपुर पहुंचे। गिरोह के तीन अन्य तीन साथियों में एक विकास कोलकाता का रहने वाला है। जबकि दो अन्य साथी अलताफ और अबू तलेब बंग्लादेश के निवासी हैं। इकबाल ने पुलिस को बताया कि चारो बिलासपुर पहुंचने के बाद सिरगिट्टी में किराए का मकान लिया। मकान मालिक का नाम  अलताभ है। अलताफ का घर सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के कीर्तिनगर में है।

                 पुलिस पूछताछ में इकबाल के अनुसार 8 अक्टूबर से 21 अक्टूबर के बीच शहर के विभिन्न थाना क्षेत्रों में ग्रिड उखाड़कर चोरी की घटना को मिलकर अंजाम दिया है। इसके बाद हम लोग कोलकाता लौट आए।

रेकी के बाद ग्रिल उखाड़ कैसे की चोरी

                            सूत्रों के अनुसार अकबर अली ने पुलिस को बताया है हम लोग चोरी के पहले घरों की रैकी करते थे। इसके बाद चोरी की घटना को अंजाम देते थे। कमोबेश सभी चोरियों शाम पांच से 9 बजे के बीच में ही करते थे। अकबर के अनुसार शाम पांच से 9 के बीच घर के सदस्य या तो वाकिंग पर होते थे। या फिर  इधर उधर घूमने में मस्त होते । इस दौरान राड मोबाइल पेचकस के सहारे ग्रिल को उखाड़ अन्दर जाते और चोरी की घटना को अंजाम देते थे।

                                             अकबर अली के अनुसार मुहिम असफल होने पर सुबह 10 से चार के बीच भी ग्रिल उखाड़कर चोरी की घटना को अंजाम दिया है। क्योंकि इस समय घर के सदस्य काम काज के चक्कर अक्सर बाहर होते थे। कभी कभी रात्रि की अधूरी कहानी को सुबह दोपहर में अंजाम तक पहुंचाया है। फिलहाल पुलिस ने अभी इसका खुलासा नहीं किया है कि आरोपियों ने कहां कहां चोरियां की हैं।

तीन आरोप फरार…औजार बरामद

              मालूम हो कि सिविल लाइन थाना प्रभारी की अगुवाई में पुलिस की टीम कोलकाता गयी थी। कोलकाता के टांगर थाना क्षेत्र से अकबर अली की गिरफ्तारी हुई है। अकबर अली के अलावा तीन अन्य आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। फरार आरोपियों में विकास कोलकाता का रहने वाला है। जबकि दो अन्य आरोपी अलताफ और अबू तलैय बंग्लादेश के निवासी हैं।

                          जानकारी के अनुसार सिविल लाइन थाना पुलिस ने आरोपी अकबर अली के निशानदेही पर राड़ और मोबाइल पेचकश को बरामद कर लिया है। खबर लिखे जाने तक गिरोह की कारगुजारियों का खुलासा नहीं किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *