कांग्रेस नेता पर 307 लगाने की मांग..किस सवाल पर चुप हो गए जोगी…क्यों कहा जाएंगे हाईकोर्ट

बिलासपुर–जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेता अमित जोगी आज पुलिस कप्तान से मिलकर कांग्रेस नेता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। अमित जोगी ने पुलिस कप्तान से बताया कि व्यापार विहार स्थित त्रिवेणी भवन में विक्रांत के साथ मारपीट हुई। मामले की शिकायत के बाद मारपीट करने वाले कांग्रेस नेता के खिलाफ अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है। ऐसा लगता है कि उसे बचाने का प्रयास किया जा रहा है। विक्रांत की हालत अभी भी ठीक नहीं है। जोगी ने मारपीट करने वालों के खिलाफ 307 का अपराध दर्ज करने को कहा है।

                         अमित जोगी आज जनता कांग्रेस नेताओं के साथ पुलिस कप्तान से मुलाकात की है। जोगी ने पार्टी प्रवक्ता विक्रांत तिवारी के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। पुलिस कप्तान ने जोगी को आश्वासन दिया है कि जल्द ही आरोपियों के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस कप्तान से बातचीत के बाद अमित जोगी पत्रकारों से भी रूबरू हुए हैं।

                           पत्रकारों से अमित जोगी ने बताया कि कुछ सप्ताह पहले कांग्रेस के गुंडों ने त्रिवेणी भवन में सुनवाई के दौरान विक्रांत तिवारी के साथ मारपीट की। मारपीट के बाद विक्रांत तिवारी को नाजुक हालत में सिम्स में भर्ती कराया गया। इसके बाद रायपुर में न्यूरोलाजिस्ट ने गहन इलाज हुआ। कांग्रेस नेताओं के हमले से पार्टी प्रवक्ता विक्रांत तिवारी के सिर में तीन जगह ब्लड क्लाट होना पाया गया। इलाज के बाद विक्रांत तिवारी आज हमारे साथ है लेकिन अभी भी  पूरी तरह से स्वस्थ्य नहीं है।

                       जोगी ने कहा कि हम लोगों ने मारपीट करने वाले कांग्रेंसियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने पुलिस कप्तान से मिले। एसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है। लेकिन उन्होने यह नहीं बताया कि कार्रवाई में देरी क्यों हुई। अमित जोगी ने पत्रकारों के सवाल पर कहा कि दरअसल पुलिस प्रशासन भाजपा और कांग्रेस के संयुक्त इशारे पर मारपीट करने वाले आरोपियों को बचा रहा है। यही कारण है कि मारपीट के आरोपी कांग्रेस नेता पर दर्ज 327 धारा को हटाने का आदेश दिया गया है। हमारी मांग है कि ऐसे असामाजिक तत्वों पर 307 का मामला दर्ज किया जाए।

                                     जोगी ने बताया कि त्रिवेणी भवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस नेताओं ने अधिराज बिल्डर का समर्थन कर रहे थे। यह जानते हुए भी करोड़ों रूपए हड़पकर अधिराज बिल्डर के मालिकों ने एक इंच जमीन भी हितग्राहियों को अभी तक नहीं दी है। जब जनता कांग्रेस के नेताओं ने इसका विरोध किया तो कुछ कांग्रेस के नेता अधिराज बिल्डर के लिए गुंडा का काम किया। पार्टी प्रवक्ता विक्रांत तिवारी पर जानलेवा हमला कर दिया। हमले के बाद विक्रांत तिवारी को आईसीयू में भर्ती कराया गया।

चुप हो गए जोगी

                     पत्रकारों से चर्चा के दौरान एक सवाल पर अमित जोगी चुप हो गए। कुरेदने के बाद भी उन्होने सवाल का जवाब नहीं दिया। पत्रकारों ने कहा कि कांग्रेस नेता ने एक वीडियो जारी किया है कि जनता कांग्रेस नेता अमित जोगी पर 302 का आरोप है। उन्हें किसी को गुंडा कहने के पहले खुद का दामन झांकना चाहिए। कांग्रेस नेता के इस दावे में कितनी सच्चाई है। सवाल सुनते ही जोगी चुप्पी साध ली। उन्होने बहुत कुरेदने के बाद भी सवाल का जवाब नहीं दिया। प्रश्न को बार-बार बार दुहराया गया बावजूद जोगी ने जुबान नहीं खोला।

जग गयी उम्मीद

                      पत्रकारों को जोगी ने बताया कि नसबन्दी काण्ड में डॉ. गुप्ता को कोर्ट ने दोषी ठहराया है। फैसला आने के बाद न्याय की उम्मीद जगी है। मेरी मुंहबोली बहन चैती बाई  ने परिवाद दायर किया लेकिन मान्य नहीं हुआ। अब हम लोग नसबन्दी घटना के लिए जिम्मेदार राजनेता और प्रशासन के खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे। न्याय की मांग करेंगे। क्योंकि समय अनुकूल है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...