सुलझ गयी जीपीएफ ऋणात्मक शेष की गुत्थी…रोहित ने कहा…3 दिवसीय शिविर में कर्मचारियों को मिलेगी राहत

rohit_tiwari_cgबिलासपुर—लिपिक संघ की पहल पर शासन ने जीपीएफ़ ऋणात्मक शेष निराकरण शिविर आयोजित करेगा। बिलासपुर में शिविर का आयोजन 17, 18 और 20 नवम्बर को किया जाएगा।  मालूम हो कि महालेखाकार कार्यालय की गलती से कर्मचारियों के समान्य भविष्य निधि खाते मे ऋणात्मक शेष की समस्या को लिपिक शासकीय कर्मचारी संघ ने प्रमुखता से उठाया था।

                 छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ महामंत्री रोहित तिवारी ने बताया कि शिविर के माध्यम से कर्मचारियों की समस्या को खत्म किया जाएगा। रोहित के अनुसार संघ प्रांताध्यक्ष चन्द्रिका सिंह ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए महालेखाकार कार्यालय और शासन से पत्राचार कर कर्मचारियों की समस्या को दूर करने का निर्देश दिया था।

                 रोहित ने बताया कि संगठन पदाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री, महालेखाकार  और वित्त सचिव के मामले को संज्ञान में लाया गया। जिला स्तरीय शिविर का आयोजन कर कर्मचारियों की समस्या को दूर करने का निवेदन किया गया। लिपिक संघ की पहल पर महालेखाकार ने संघ के सुझावों पर ना केवल अमल किया। बल्कि न्यायधानी बिलासपुर से महाअभियान की शुरुवात करने का एलान भी किया।

               रोहित के अनुसार 17,18 और 20नवम्बर को जल संसाधन विभाग मे जिले भर के ऋणात्मक शेष समस्या निराकरण शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर में महालेखाकार कार्यालय की टीम विशेष रूप से मौजूद रहेगी। इस दौरान र्मचारियों की समस्या का त्वरित निराकरण किया जाएगा। लिपिक संघ महामंत्री रोहित तिवारी ने बताया की खुशी है कि शासन ने कर्मचारियों की समस्या को गंभीरता से लिया। इस अभियान से प्रदेश भर के कर्मचारियों को राहत मिलेगी। जरूरत के अनुसार सभी कर्मचारी जमा पैसा समय पर आहरित कर सकेंगे l

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...