बस्तर मे जीआरपी करेगी रेल की सुरक्षा,केंद्र को भेजा प्रस्ताव

grp_bastarरायपुर।पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़ रेलवे सुरक्षा समिति की बैठक गुरुवार को पुलिस मुख्यालय नया रायपुर में सम्पन्न हुई। बैठक में श्री उपाध्याय ने पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों को बस्तर अंचल में सुरक्षित रेल सेवाओं के लिए शासकीय रेलवे पुलिस की तैनाती का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि यह प्रस्ताव राज्य शासन के माध्यम से रेल मंत्रालय को भेजा जाएगा। राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्र बस्तर में रेल सेवाओं का विस्तार तेजी से हो रहा है। रावघाट रेल परियोजना का कार्य प्रगति पर है और नई यात्री रेल सेवायें प्रारंभ हुई हैं, इसलिए बस्तर अंचल में भी शासकीय रेल पुलिस की सेवाओं की जरूरत महसूस की जा रही है।

                              उन्होंने कहा कि राज्य में रेल यात्रियों तथा रेलवे सम्पत्तियों की सुरक्षा में विशेष सतर्कता बरती जाए। इसके लिए शासकीय रेल पुलिस (जीआरपी), स्थानीय पुलिस तथा रेलवे सुरक्षा बल के बीच परस्पर तालमेल बना रहे और तीनों ही पुलिस के अधिकारी समन्वय के साथ कार्य करें, क्योंकि शासकीय रेल पुलिस तथा रेलवे सुरक्षा बल भले ही राज्य और केन्द्र सरकार के अधीन है, लेकिन दोनों का उद्देश्य एक ही है।

                               बैठक में पूर्व तटीय रेल्वे भुवनेश्वर की रेलवे सुरक्षा बल की उपमहानिरीक्षक श्रीमती कंचन चरण  ने कहा कि बस्तर क्षेत्र में रेल सेवाओं के संचालन में स्थानीय छत्तीसगढ़ पुलिस का अच्छा सहयोग प्राप्त हो रहा है। उन्होंने सुझाव दिया कि बस्तर क्षेत्र में जब तक जीआरपी के थाने नहीं प्रारंभ हो रहे हैं, तब तक जगदलपुर और किरंदुल रेलवे स्टेशनों पर पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाए, इस पर पुलिस महानिदेशक श्री उपाध्याय ने सहमति व्यक्त करते हुए रेलवे अधिकारियों के सहयोग से पुलिस सहायता केन्द्र प्रारंभ करने के लिए जिला पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखने के निर्देश दिए।

                           बैठक में दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे बिलासपुर के मुख्य सुरक्षा आयुक्त आर. एस. चौहान ने बताया कि राज्य के लगभग सभी बड़े रेलवे स्टेशनों पर सीसीटीव्ही लगा दिए गए हैं और इन्हें जी.आर.पी. लिंक से जोड़ दिया गया है, जिन रेलवे स्टेशनों पर जीआरपी के थाने या चौकियां नहीं है, वहां स्थानीय पुलिस स्टेशनों के लिंक से जोड़ा जा रहा है, जिससे अपराध पर नियंत्रण होगा और अपराधियों को पकड़ने में मदद मिलेगी। मुख्य सुरक्षा आयुक्त श्री चौहान ने जीआरपी का सहयोग प्राप्त होने पर प्रशंसा व्यक्त की।

                       बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, रेल एवं यातायात  टी.जे. लांगकुमेर ने छत्तीसगढ़ राज्य में रेलवे से संबंधित हुए अपराधों का विस्तृत तुलनात्मक विवरण प्रस्तुत किया। इस बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक गुप्तवार्ता श्री अशोक जुनेजा, केन्द्रीय इंटेलीजेंस ब्यूरों के उप निदेशक जयदीप सिंह ने भी अपने विचार व्यक्ति किए।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...