यात्रा के अंतिम बुजुर्गों ने दिया आशीर्वाद..टाह ने बताया 14 साल में हुआ भाजपा का विकास..लोग पलायन को मजबूर

DSC_0054(1) DSC_0145बिलासपुर— जनता कांग्रेस की 45 दिवसीय छ्तीसगढ़िया अधिकार यात्रा के  अंतिम दिन अनिल टाह ने बेलतरा विधानसभा की बड़ी भीड़ को संबोधित किया। टाह ने 45 दिनों की पदयात्रा के दौरान बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के 96 गांव, 65 ग्राम पंचायत और 7 नगर निगम वार्ड का भ्रमण किया। मंगला में आयोजित समापन कार्यक्रम में अनिल टाह ने कहा कि अजीत जोगी की सरकार बनते ही लोगों की समस्याओं को तत्काल दूर किया जाएगा।

              सभा को संबोधित करने से पहले अनिल टाह ने बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के बुजुर्गों का शाल श्रीफल से स्वागत किया। टाह ने बताया कि किसी भी सफल अभियान से पहले वरिष्ठ नागरिकों का आशीर्वाद जरूरी है। इन 45 दिनों में मुझे जनता से भरपूर प्यार मिला है। जनता कांग्रेस प्रदेश महासचिव ने कहा कि जब तक प्रदेश का मुखिया छत्तीसगढ़िया नही बनेंगे छत्तीसगढ़ का समग्र विकास संभव नहीं है।

                                  टहा ने बताया कि अधिकार यात्रा के दौरान बेलतरा विधानसभा क्षेत्र में लोगों ने अपनी समस्याओं को खुलकर रखा। जनता ने रूबरू होकर बताया कि पिछले 14 सालों में भाजपा सरकार ने किसान मजदूर और गरीबों की भावनाओं से केवल और केवल मजाक है।

             छत्तसगढ़िया अधिकार यात्रा के दौरान ऐसा कोई गांव या व्यक्ति नहीं मिला जिसने वर्तमान सरकार के कसीदे पढ़े हों। हर तरफ समस्याओं के साथ  अराजकता का बोलबाल है। किसी ने मकान नहीं होने की शिकायत की है…तो किसी ने बताया कि नाक रगड़ने के बाद भी सकार ने आज तक आवास पट्टा नहीं दिया है। सालों साल से निराश्रित और वृद्धा पेंशन योजना का लाभ पंच और सरपंच उठा रहे हैंं। सड़क से लेक गली तक चारो तरफ गंदगी का अंबार है। औषधालयों की हालत बदतर है। कहने को सरकार ने गांवों में सड़को का जाल बिछाया है। लेकिन मौके पर सड़कें गांयब मिली है।

                          अनिल टाह ने बताया कि गांवों में पेयजल की भारी समस्या है। लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। घर की नालियां सड़कों पर बह रही हैं।  राशन में कटौती होने से गरीबों और मजदूरों का जीना मुश्किल हो गया है। लोग या तो पलायन को मजबूर हैं या फिर परिवार के साथ भीख मांगने को विवश हैं। सालों साल से मनरेगा का भुगतान नहीं किया गया है। बिजली नहीं होने के बाद भी लोग बिजली बिल भरने को मजबूर हैं। शौचालय निर्माण में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। कई गांवो में शौचालय नहीं हैं..लेकिन सरकारी दस्तावेजों में शौचालयों का निर्माण हो चुका है। कछार और मंगला के लोगों की समस्या कुछ अलग की है। शहर के डम्प कचरों से निकलने वाली से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है।

                                मंगला में आयोजित कार्यक्रम के दौरान गांव के प्रबुध्द लोगों के अलावा जनता कांग्रेस कार्यकर्ता एच.पी. लक्ष्मे, आशा साहू, कौशिल्या पोर्ते, कमल कश्यप, लता वर्मा, दिलीप मिरी, रामलाल साहू,, शीतल जयसवाल, पवन टाण्डे,रतना चंद्राकर, रामनारयण उइके, हरिश पटेल, मजीद भाई, सुनिल उपाध्याय, बुधनाथ पैगोर, अश्वनी सक्सेना, वसीम खान, पुरूषोत्तम पटेल, रवि दुबे, विरेन्द्र यादव समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...