सचिव सोनमणि बोरा ने दिए अरपा-भैंसाझार वृहद सिंचाई परियोजना को जून तक पूर्ण करने के निर्देश

_20180108_194857रायपुर।जल संसाधन विभाग के सचिव सोनमणि बोरा ने मंत्रालय में अरपा-भैंसाझार सिंचाई परियोजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को इस परियोजना का कार्य जून 2018 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए।सचिव ने कहा कि यह राज्य शासन की उच्च प्राथमिकता की योजना है, इसकी गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की कमी नही होनी चाहिए। इस योजना से बिलासपुर जिले के तीन विकासखण्डों-कोटा, तखतपुर और बिल्हा के 102 गांव के 97 हजार किसानों-ग्रामीणों को फायदा होगा। इनमें लगभग 19 हजार अनुसूचित जाति वर्ग के, 13 हजार अनुसूचित जनजाति वर्ग के और 65 हजार पिछड़ा वर्ग एवं सामान्य वर्ग के लोग शामिल है। इस परियोजना से 25 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी।

बैठक में प्रमुख अभियंता एच.आर. कुटारे ने बताया कि अरपा भैंसाझार लगभग 1142 करोड़ रूपए की लागत के वृहद सिंचाई परियोजना है। इसका निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। परियोजना को जून 2019 तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है लेकिन तेजी से कार्य होने के कारण समय से पहले ही पूर्ण कर लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इस परियोजना से तखतपुर विकासखण्ड के 71 गांवों के 19 हजार 406 हेक्टेयर क्षेत्र में, बिल्हा विकासखण्ड के 30 गांव के पांच हजार 554 हेक्टेयर क्षेत्र में और कोटा विकासखण्ड के एक गांव के 40 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी। उन्होंने बताया कि बिलासपुर-कटनी मार्ग पर कलमीटार रेल्वे क्रासिंग के लिए ऐजेंसी तय कर लिया गया है। क्रासिंग का काम इस वर्ष 31 मार्च तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *