भगवंत मान के इस्तीफे के बाद प्रदेश उपाध्यक्ष का इस्तीफा

नईदिल्ली।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के विक्रम सिंह मजीठिया को माफीनामे की चिट्ठी लिखे जाने से नाराज आम आदमी पार्टी (आप) के पंजाब प्रमुख भगवंत मान के इस्तीफे के बाद प्रदेश उपाध्यक्ष अमन अरोड़ा ने भी इस्तीफा दे दिया है।पंजाब के सुनाम से विधायक अमन अरोड़ा ने ट्वीट कर लिखा, ‘माननीय मनीष सिसोदिया जी, कल (गुरुवार) से चल रही दुखदायी घटनाओं के कारण मैं उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं, कृपया मेरा इस्तीफा स्वीकार कर लीजिए।’इसके अलावा पंजाब चुनाव के दौरान आप के साथ गठबंधन करने वाली लोक इंसाफ पार्टी (एलआईपी) ने भी आप से अलग होने का फैसला किया है।शुक्रवार को एक के बाद एक इस्तीफे आने के बाद आप में पूरी तरह दरार पैदा हो चुका है। केजरीवाल के माफीनामे के बाद विपक्ष और अन्य दूसरी पार्टियां पूरी तरह पार्टी पर हावी होता दिख रहा है।

बता दें कि पंजाब में चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल ने शिरोमनी अकाली दल (एसएडी) के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया को ड्रग माफिया बताया था। इसके बाद मजीठिया ने केजरीवाल पर मानहानि का मामला दर्ज कर दिया था।अदालत में दिए गए माफीनामे में केजरीवाल ने कहा है कि उन्हें अब पता चला है कि उनके द्वारा लगाए गए ड्रग्स ट्रेड के आरोप निराधार थे। जिसके बाद अकाली दल के नेता ने कहा कि वह मानहानि का केस वापस ले लेंगे।हालांकि इस माफीनामे के बाद केजरीवाल चौतरफा घिर गए।

दो दिनों की घटनाक्रम से आम आदमी पार्टी को काफी बड़ा झटका लगा है। पार्टी में अलग बोल रखने वाले नेता कुमार विश्वास ने भी नाराजगी जाहिर की है।इस मामले में कुमार विश्वास ने ट्वविटर पर एक पंक्ति लिखकर अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा।

वहीं केजरीवाल के इस्तीफे पर पंजाब के मंत्री ने नवजोत सिंह सिद्धु ने कहा, ‘स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने साफ कहा था कि बिक्रम सिंह मजीठिया की भूमिका के साफ प्रमाण है जिसकी जांच किए जाने की जरूरत है। पंजाब सरकार इन तथ्यों को नकार नहीं सकती है।’वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भगवंत मान के इस्तीफे पर बचाव करते हुए कहा कि हम सभी साथ हैं। हम उनसे बात करेंग, वे समझ जाएंगे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...