जोगी कांग्रेसियों का आरोप…300 करोड़ों का हुआ घोटाला…बीमा की जगह किसानों को मिला धोखा..अब आंदोलन करेंगे

बिलासपुर—- जोगी कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने आज कृषि उपसंचालक कार्यालय का घेराव किया। नेताओं ने कार्यालय के सामने जमकर नारेबाजी की। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया। 300 करोड़ रूपए का गबन को लेकर शासन और प्रशासन को जमकर आड़े हाथ लिया। जनता कांग्रेस नेताओं ने बताया कि एक तरफ राज्य सरकार जिलों को सूखा घोषित कर केन्द्र से रूपए तो लिए लेकिन बीमा कम्पनी ने अच्छी फसल बताकर किसानों की राशि को पचा लिया। इसमें सरकार,अधिकारी और बीमा कम्पनी के कर्मचारी भी शामिल हैं।

              जनता कांग्रेस नेताओं ने आज कृषि उपसंचालक कार्यालय के सामने पहुंचकर जमकर नारेबाजी की है। विश्वभंर गुलहरे की अगुवाई में कार्यालय घेराव कर नेताओं ने बताया कि सरकार को हर हालत में किसानों को ब्याज समेत बीमा राशि देने होगा। यदि ऐसा नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

     विश्वंभर गुलहरे और उत्तर छत्तीसगढ़ प्रवक्ता मणिशंकर ने बताया कि प्रदेश के करीब 13 लाख किसानों  ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत दो प्रतिशत बीमा प्रीमियम लिया। कुल राशि लगभग 300 करोड़ रुपए है।सरकार ने प्रदेश के कुल 17 जिलों को  सूखाग्रस्त घोषित किया है। आज तक किसानों को फसल का बीमा भुगतान नहीं किया गया है। बीमा क्म्पनी को  6000 करोड़ रुपए का भुगतान करना है।

                       गुलहरे और मणिशंकर  और समीर अहमद ने बताया कि बिलासपुर जिले में बिल्हा, तखतपुर, मस्तूरी का कुछ भाग, बेलतरा, कोटा, मरवाही के किसानोंने  प्रधानमंत्री ग्राम फसल बीमा योजना के तहत करोड़ों रूपए प्रीमियम जमा किया। सुखा ग्रस्त होने के बाद भी किसी भी किसान को बीमा राशि नहीं मिली है। जबकि राशि केन्द्र से सरकार के खजाने में आ चुकी है। लेकिन बीमा कम्पनियों ने जिले में 36 प्रतिशत फसल होने की झूठी जानकारी देकर बीमा राशि को दबा दिया है। स्पष्ट है कि राज्य सरकार की अनवरी रिपोर्ट गलत है या फिर सूखाग्रस्त घोषित करने के पहले हुई जांच में भ्रष्टाचार हुआ है।

                              जूतू ठाकुर विक्रांत तिवारी,शहजादी कुरैशी ने बताया कि केंद्र और राज्य के अलग-अलग मानक होने से किसानों को बीमा की राशि से वंचित होना पड़ रहा है ।जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ मांग है कि किसानों को  बीमा राशि का भुगतान तत्काल किया जाए। अनावारी रिपोर्ट जमा करने में हो रहे भ्रष्टाचार की तत्काल जांच की जाए।

                                   किसानों के 6000 करोड़ रुपये करीब एक साल से सरकारी मापदंडों के कारण खजाने में है। जाहिर सी बात है इतनी बड़ी राशि का व्याज भी करोड़ों में होगी। सरकार ब्याज का बंदरबांट कर रही है। प्रभावित किसानों को व्याज समेत बीमा राशि दी जाए। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि मामले में जिला प्रशासन को पहले भी लिखित शिकायत कर चुके हैं। बावजदू इसके आज तक किसानों को एक रूपया नहीं मिला। फसल बरबाद होने और बीमा राशि नहीं मिलते से कर्ज से परेशान किसान आत्महत्या कर रहे हैं। यदि  15 दिनों के अंदर किसानों को राशि नहीं दी जाती है तो जिले के हजारो किसान जिला मुख्यालय में उग्र प्रदर्शन करने को तैयार हैं।

                      धरना प्रदर्शन के दौरान जनता कांग्रेस शहर अध्यक्ष विशम्भर गुलहरे, महिला प्रदेश अध्यक्ष शहजादी क़ुरैशी,संतोष कौशिक, टिकेश प्रताप सिंह, शाजी मैथयू, मणिशंकर पांडे, समीर अहमद, जीतू ठाकुर, गजेंद्र श्रीवास्तव, विक्रान्त तिवारी, मार्ग्रेट बेंजामिन, चित्रकान्त श्रीवास, प्रदीप कुर्रे समेत दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...