अटल के खिलाफ भाजपाइयों का हल्लाबोल…14 हजार मतदाताओँ के अधिकारों के हनन का आरोप

बिलासपुर। भारतीय जनता पार्टी के पार्षद एल्डरमैन और संगठन के अन्य नेताओं ने सोमवार को  जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है । उन्होने अटल श्रीवास्तव पर शहर के 14 हजार मतदाताओँ के भविष्य के साथ खिलवाड़ का आरोप लगाया है।भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने बताया कि पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने जनता के जनता के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है ।  एल्डरमैन मनीष अग्रवाल , राजेंद्र भंडारी ,  विजय ताम्रकार ने कहा कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव ने बिलासपुर विधानसभा के 14000 मतदाताओं के नाम कटवाने ऑनलाइन आवेदन किया ।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall
हमसे facebook पर जुड़े-  www.facebook.com/cgwallweb
twitter- www.twitter.com/cg_wall

आवेदन के साथ शपथ पत्र भी दिया कि 14000 मतदाता दरअसल  बिलासपुर में है ही नहीं ।  भाजपा नेताओं ने कहा अटल श्रीवास्तव ने ऐसा राजनीतिक लाभ के लिए किया है ।  उन्होंने बेकसूर बिलासपुर विधानसभा के मतदाताओं को अधिकारों से वंचित किया है   । जाहिर सी बात है इससे मतदाताओं को मौलिक अधिकारों का हनन हुआ है ।  मनीष अग्रवाल , रोशन सिंह ,  दुर्गा सोनी  , प्रवीण दुबे ने कहा अटल श्रीवास्तव के खिलाफ जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया जाए ।  उन्होंने लोगों के मतदान का अधिकार छीनने का प्रयास किया है  । भाजपा नेताओं ने कहा कि श्रीवास्तव ने जानबूझकर मतदाताओं का नाम विलोपित करवाया  । आने वाले विधानसभा चुनाव में मतदाताओं का नाम कटवाकर अपने मंसूबों का परिचय दिया है ।  भाजपा नेताओं ने कहा कि निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर प्रारूप गाइडलाइन के तहत निशुल्क फॉर्म भरने की सुविधा नागरिकों के अधिकारों के लिए जनप्रतिनिधित्व कानून के अंतर्गत दी गई है ।  प्रशासन निर्वाचन आयोग को भ्रमित करने का काम किया है ।  इसलिए कांग्रेस नेता के खिलाफ जनप्रतिनिधित्व कानून 1950 की धारा  के तहत कार्यवाही होनी चाहिए  । श्रीवास्तव ने नियमों को 14000 बार तोड़ा है ।  इसलिए उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही प्रशासन को करना चाहिए ।

मनीष अग्रवाल ने कहा अटल श्रीवास्तव केवल अपने क्षेत्र के बोगस  मतदाताओं की ही शिकायत कर सकते हैं ।  बावजूद इसके उन्होंने नियम  से बाहर जाकर शिकायत की है  । नियमानुसार अटल श्रीवास्तव को ऐसा नहीं करना चाहिए था  । उन्होंने जिनके नामों को काटने का आवेदन दिया है वह सभी लोग ना केवल जीवित है ।  बल्कि वार्डों में मौजूद भी हैं  । इसका अर्थ है कि अटल श्रीवास्तव इनसे मतदान का अधिकार धोखे से छीन लेना चाहते हैं  । यह संविधान के मूल अधिकारों के खिलाफ है ।मामले में एडिशनल कलेक्टर उइके  ने कहा नियमों की जांच पर होगी  । इसके बाद जो भी उचित कदम होगा उठाया जाएगा  ।  एक अन्य सवाल के जवाब में उइके ने कहा कि यह सच है कि कलेक्ट्रेट कार्यालय और उसके आसपास क्षेत्र में धारा 144 लागू है ।  यदि भाजपा नेताओं ने धारा 144 का उल्लंघन किया है तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी ।

सवाल पूछे जाने पर कि क्या इतनी भीड़ आप को दिखाई नहीं देती कि इन्होंने धारा का 144 का उल्लंघन किया है उन्होंने बताया भीड़ भी देख रहा हूं और धारा का उल्लंघन हो रहा यह भी देख रहा हूं ।  इसलिए जो उचित कार्यवाही होगी उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी ।  कलेक्टर से लिखित शिकायत करते समय भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में मनीष अग्रवाल , गुलशन ऋषि ,  रामदेव कुमावत ,  दुर्गा सोनी  , रोशन सिंह , प्रवीण  दुबे , विजय ताम्रकार , धीरेंद्र केशरवानी , प्रकाश यादव  , शांति वर्मा ,  संजय गुप्ता  ,राजेश मिश्रा ,लाला भाभा आदि  मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *