जोगी ने कहा..भाजपा शासित राज्यों में दलित और मुस्लिम असुरक्षित..भय पैदा कर बढ़ाया जा रहा जनाधार

रायपुर— पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने जोगी ने आरोप लगाया है कि जब से केन्द्र में भाजपा की सरकार आयी है। भाजपा शासित राज्यों में दलितों एवं अल्पसंख्यको पर अत्याचार एवं अमानवीय व्यवहार की बाढ़ सी आ गयी है। जोगी ने गुजरात राज्य के राजकोट गुजरात में कचरा उठाने वाले दलित की रस्सी से बांधकर लोहे के राड से  पिटाई के बाद दर्दनाक हत्या की निंदा की है।
                        पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने भाजपा सरकार पर दलितों के साथ अत्याचार करने का आरोप लगाया है। जोगी ने कहा कि गुजरात में दलित को रस्सी से बांधकर पीटा गया। मार पीट से दलित की मौत हो गयी है। दर्दनाक घटना केे पहले भी दलित और अल्पसंख्यक उत्पीड़न के कई प्रकरण सामने आ चुके हैं। प्रधानमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ किये जा रहे अमानवीय अपराधिक कृत्यों की ओर ध्यान नही दिया जा रहा है। भाजपा के दोनों नेता अपने दल की लोकप्रियता बढ़ाने की दिशा में मंसूबे बनाने की सोच में डूबे रहते है। ऐसे गंभीर और संवेदनशील मुद्दों पर चुप्पी भाजपा की दलित और अल्पसंख्यक के प्रति स्थापित निम्न मानसिकता को उजागर करती है।
         जोगी ने कहा है कि दलित और अल्पसंख्यक को उत्पीड़न से भाजपा के पक्ष में लाने की सोची समझी साजिश की ओर इशारा करता है। गौमांस, भक्षण और गौवध का झूठा आरोप लगाकर निहत्थे अल्पसंख्यकों की बेदम पिटाई कर हत्याओं की श्रृृंखला चलायी जा रही है। प्रधानमंत्री की चेतावनी के बावजूद दलितों और पशु कारोबारी मुस्लिमों की हत्याएं और उत्पीड़न की घटनाएं रूकने का नाम नही ले रही है।
                         जोगी ने कहा कि अपराधिक तत्वों के हौसले बुलंदी पर हैं। भाजपा को इसका भुगतान आगामी चुनावों में भुगतना पडे़गा। भाजपा सरकारों को चाहिये कि ऐसे गंभीर हत्याकांण्ड की दिशा में शीघ्र सुनवाई के लिए फास्टट्रैक कोर्ट का गठन करे। पीड़ित पक्ष को शीघ्र न्याय उपलब्ध हो सके।  दलित और अल्पसंख्यक उत्पीड़न में हताहत परिवार के आश्रितों को एक-एक करोड़ रूपयें की मुआवजा राशि दी जाए। यह राशि प्रधानमंत्री स्वयं या फिर अधिकृत जनप्रतिनिधि के माध्यम से मृतक के घर जाकर दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *