रेलवे कर्मचारी से 50 हजार की मांग…2 महिला समेत तीनों ने बताया खुद को पत्रकार..पहुंच गए लॉकअप के अन्दर

बिलासपुर— तोरवा पुलिस ने दो महिला समेत तथाकथित तीन  पत्रकारों के खिलाफ फिरौती का मामला दर्ज किया है। तीनों तथाकथित पत्रकारों को रेलवे कर्मचारी से फिरौती मांगने की लिखित शिकायत पर थाने में बंद कर दिया है। तीनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

                    तोरवा थानेदार ने बताया कि बापू उपनगर निवासी हितेश की शिकायत पर दो महिला समेत तीन तथाकथित पत्रकारों को हिरासत में लेकर थाने में बंद किया गया है। हितेश ने लिखित में बताया कि तीनों खुद को पत्रकार बता रहे हैं। पिछले कुछ दिनों ने फोन पर पचास हजार रूपए की मांग कर रहे हैं। प्रार्थी ने तीनों का वीडियो और आडियो रिकार्ड थाना लाकर दिखाया। इसके बाद एफआईआर दर्ज कर तीनों को हिरासत में लिया गया है।

                                        तोरवा थानेदार के अनुसार बापू उनगर निवासी रेलवे  कर्मचारी हितेश कुमार ने पुलिस को बताया कि विनीता सिंह,लक्ष्मी सोनी और अजीत सिंह तीनों मिलकर पचास हजार रूपए मांग रहे हैं।  रेलवे का कर्मचारी होने के कारण उसे सरकारी क्वार्टर मिला है। घर की महिला सदस्य रेलवे क्वार्टर से ही आंगनबाड़ी केन्द्र चलाती है। तीनों ने कहा कि रेलवे कर्मचारी होकर सरकार क्वार्टर से आंगनबाड़ी चलाना अपराध है।क्वार्टर से दूसरों को बिजली देना भी गलत है। यदि खबर लिखेंगे तो नौकरी चली जाएगी।

                                                           यदि नौकरी से बचना चाहते हो तो पचास हजार रूपए देना होगा। अन्यथा जेल जाना भी होगा। थानेदार ने बताया कि तीन दिन पहले हितेश ने मामले की जानकारी दी थी। उदय लहरे ने तीनों का वीडियो बनाया। मामले की शिकायत आज  थाने में की।

              फिलहाल तीनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 384,34 के तहत मामला दर्ज कर हिरासत में ले लिया गया है।थानेदार ने यह भी बताया कि पूछताछ के दौरान जानकारी मिली है कि स्थानीय पार्षद ने मामले में मध्यस्थता की है।J

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...