शिक्षाकर्मियों के लिए “अच्छे दिन” लाए सरकार..विरेन्द्र दुबे बोले-सबका साथ सबका विकास चरितार्थ करें


Shikshakarmi,virendra dubeyरायपुर।
प्रदेश के शिक्षाकर्मियों की धड़कने सोमवार को होने वाली कैबिनेट बैठक को लेकर बढ़ी हुई है।मुख्यमंत्री द्वारा संविलियन की घोषणा होने से शिक्षाकर्मियों में हर्ष का वातावरण बना क्योंकि यह उनके सपनों को साकार होने जैसा था।संविलियन के लिए शिक्षाकर्मियों ने 22 वर्षो से अपना आंदोलन सतत जारी रखा,कई यातनाएं सही, अंततः आज वे अपने मंजिल के करीब दिख रहे हैं।विभिन्न अखबारों में संविलियन को लेकर चलाई जा रही अटकलों और कयासों के बीच सोसल मीडिया में अफवाहों का दौर भी चला जिसने वर्ग 3 और 8 वर्ष से कम वालों की बेचैनी बढ़ा दी है,जबकि मोर्चा सञ्चालकगण प्रदेश के शिक्षाकर्मियों को आश्वस्त करते रहे हैं कि अफवाहों पर ध्यान न दें,जो भी होगा आज कैबिनेट से पता चलेगा।शालेय शिक्षाकर्मी संघ के प्रांताध्यक्ष और मोर्चा के प्रदेश संचालक विरेन्द्र दुबे ने मांग की है कि “आज छत्तीसगढ़ सरकार प्रदेश के समस्त शिक्षाकर्मियों के लिए आदर्श वाक्य सबका साथ-सबका विकास को चरितार्थ करते हुए अच्छे दिन” प्रदान करें जिससे सर्वत्र खुशी और हर्ष का वातावरण बने।”

“अटकलों से जो अफवाहों का बाजार गर्म है,उस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रान्तीय सञ्चालक ने कहा कि मोर्चा के 9 सूत्रीय मांग में प्रदेश के प्रत्येक शिक्षाकर्मी की मांग समाहित है और हमे उम्मीद है सरकार सबकी परवाह करते हुए परिणाम देगी। संविलियन की घोषणा के लिए मुख्यमंत्री जी और छग शासन का आभार व्यक्त करते हैं,साथ ही यह आग्रह करते हैं कि संविलियन सबको दिया जाय,वर्ग 3 एवं समस्त वर्गों के वेतन विसंगति को भी दूर किया जावे,2010 से अब तक लम्बित अनुकम्पा के प्रकरण को नियुक्ति दिया जावे,अप्रशिक्षितों के लिए प्रशिक्षण की व्यबस्था किया जाये,स्थानांतरण आदि हमारी समस्त समस्याओं का समग्र निदान हो ऐसा संविलियन प्रस्ताव केबिनेट में लाया जावे।”

प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने वर्तमान में वर्ग 3, क्रमोन्नति से वंचित और 8 वर्ष के शिक्षाकर्मियों की समस्याओं को शालेय शिक्षाकर्मी संघ और मोर्चा की ओर से किये जा रहे प्रयासों की चर्चा करते हुए बताया कि “प्रदेशाध्यक्ष विरेन्द्र दुबे और मोर्चा ने वर्ग 3 और 8 वर्ष से कम शिक्षाकर्मियों का प्रतिनिधित्व करते हुए वर्ग 3 को समानुपातिक वेतन,अन्य समस्त वर्ग की वेतन विसंगति, क्रमोन्नति और 8 वर्ष से कम वाले समस्त शिक्षाकर्मियों को भी संविलियन प्रदान करने की मांग करने हेतु प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों से मुलाकात कर संविलियन घोषणा हेतु आभार और उपरोक्त समस्याओं के निदान हेतु पहल करने की सशक्त मांग रखी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *