शिक्षाकर्मी वर्ग -3 वेतनविसंगति और वर्ष बंधन को लेकर बड़ी लड़ाई की तैयारी मे

रायपुर।प्रदेश में जहा सरकार ने शिक्षाकर्मियों का संविलीयन करने का भले लाख दावा करें किंतु शिक्षाकर्मियों के एक बड़े तबके को नाखुश कर दिया है । प्रदेश में कार्यरत 1 लाख 24हजार वर्ग 3के शिक्षाकर्मियों को संविलीयन में वर्ष बंधन के चलते और वेतन विसंगति ने अंदर ही अंदर आक्रोश पनपा रहा है ।वर्ग 3में कार्यरत शिक्षाकर्मियों को विसंगतियुक्त संविलियन दिया जा रहा है जिसमें वर्ग 3के कर्मियों को महज 3-4हजार रुपये का फायदा मिलेगा वही वर्ग 1और वर्ग 2 के कर्मियों को 10-15हजार का फायदा मिल रहा है। वही 98-99से सेवा रत कर्मियों को पदोन्नति की जगह क्रमोन्न्ती वेतन दिया जाता तो कुछ हद तक फायदा मिलता वेतन विसंगति ने शिक्षाकर्मियों के बीच दरार डाल दीं है।

वर्ग 3 संघर्ष मोर्चा के प्रदेश संयोजक ईदरीश खान ने बताया कि संविलीयन की लड़ाई पूरे एक लाख अस्सी हजार शिक्षाकर्मियों ने लड़ी 23वर्षों तक चले आंदोलन में दर्जनों साथियों ने शहादत दीं। शहीद साथियों के परिजन आज भी अनुकम्पा नियुक्ति के लिये दर दर की ठोकर खा रहे वही विसंगति पूर्ण संविलीयन से प्रदेश के 1लाख 24हजार लोगों को लाभ नही मिल रहा है ।जिस संगठन को लोगों ने आँख बंद कर समर्थन किया वही गोल मोल बात कर वर्ग 3के लोगों को झूठी दिलासा देकर गुमराह करने में तुले है ।वर्ग 3के लोगों के बीच प्रांत स्तर पर बड़ा आंदोलन खड़ा करने सभी हितैषी संगठनों को एक मंच पर आकर बड़ा आंदोलन की तैयारी की जा रही । संयुक्त मोर्चा के संयोजक ईदरिश खान ने मुख्यमंत्री से विसंगति पूर्ण सवीलीयन की जगह क्रमोन्न्त समानुपातिक वेतन पर वर्ग 3का सवीलीयन तय करवाने की मांग की । संविलीयन का स्वागत विसंगति का विरोध जारी रखने का एलान किया है ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...