फिर बडे आंदोलन के लिए लामबंद हो रहे शिक्षाकर्मी,अमित बाले-निरर्थक साबित हो रहा संविलियन

रायपुर-शिक्षाकर्मियों और शासन बीच के संघर्षों का सिलसिला अभी थमा नहीं है। 23 साल तक जिन मुद्दों की लड़ाई शिक्षाकर्मी लड़ते रहे, उन लड़ाईयों के बीच कुछ पहलू अभी भी अनसुलझे हैं, लिहाजा फिर से शिक्षाकर्मी अब लामबंद होने लगे हैं एवं एक बड़े आंदोलन की तैयारी में है। इस संविलियन प्रकिया से सबसे ज्यादा आहत सहायक शिक्षक अब लामबंद होने लगे है वेतन विसंगति और वर्ष बंधन की वजह से सम्पूर्ण संविलियन प्रक्रिया निर्रथक साबित हो रही है नवीन शिक्षा कर्मी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष अमित कुमार नामदेव ने बताया कि इस सम्पूर्ण संविलियन प्रक्रिया में सबसे अधिक नुकसान सहायक शिक्षक पंचायत को हो रहा है , अमित ने बताया कि प्रदेश में सबसे अधिक सहायक शिक्षको की संख्या है ,फिर भी हमारी मूल मांग समतुल्य वेतनमान एवं क्रमोनत वेतनमान को संविलियन में नजर अंदाज किया गया है , निश्चित रूप से प्रदेश के सभी सहायक शिक्षक शासन के इस कदम से नाराज है एवं मजबूरी में हमे एक बार फिर से आंदोलन की  राह में चलने मजबूर होना पड़ा है। लिहाजा पूरे प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से अब आंदोलन का शंखनाद होने वाला है ।

प्रदेश उपाध्यक्ष अमित नामदेव ने बताया कि 28 जुलाई को शिक्षाकर्मियों का एक बड़ा प्रदर्शन राजनांदगांव में होगा। शिक्षाकर्मियों ने वर्ष बंधन समाप्त करने, वर्ग 3 को समानुपाति वेतनमान देने…वेतन विसंगति दूर करने..क्रमोन्नति वेतनमान देना होगा … 1 जनवरी 2016 से अन्य कर्मचारी की तरह सातवें वेतनमान देने…..लंबित अनुकम्पा नियुक्ति का त्वरित लाभ देने…स्थानांतरण पर लगे प्रतिबंध हटाने की मांगों के साथ आंदोलन की शुरुआत होगी ।

अमित कुमार नामदेव ने बताया कि 28 जुलाई को राजनांदगांव में प्रदर्शन के बाद 31 जुलाई विधानसभा अध्यक्ष के गढ़ में हल्ला बोल…3 अगस्त पंचायत मंत्री के गढ़ में हल्ला बोल …6 अगस्त शिक्षा मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हल्ला बोल … और 9 अगस्त क्रांति राज्यव्यापी महाआंदोलन रायपुर में किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *