पुलिस रेंज अधिकारियों की 2 दिवसीय पाठशाला…अधिकारियों ने दिया व्याख्यान…फिंगर प्रिंट का बताया इतिहास

बिलासपुर— बिलासपुर विश्वविद्यालय के आडिटोरियम में दो दिवसीय रेंज स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में बिलासपुर पुलिस रेंज के कमोबेश सभी अधिकारी शामिल हुए। इस दौरान पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने फिंगर प्रिंट विज्ञान और इतिहास को विस्तार से चर्चा की। फिंगर प्रिंट की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। फिंगर प्रिंट से जुड़ी धाराओं की जानकारी दी।
                 बिलासपुर विश्वाविद्यालय आडिटोरियम में पुलिस रेंज स्तरीय दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान संभाग के सभी पुलिस आलाधिकारी भी मौजूद थे। कार्यशाला का आयोजन अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक सीआईडी अरुणदेव गौतम , पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज दीपांशु काबरा , पुलिस अधीक्षक बिलासपुर आरिफ़ एच॰ शेख़ के निर्देशन में किया गया। दो दिवसीय कार्यशाला में प्रिंगर प्रिंट से जुड़ी तमाम जानकारियों और गतिविधियों पर आलाधिकारियों ने प्रकाश डाला।
            सीआईडी शाखा पुलिस मुख्यालय , फ़िंगर प्रिंट शाखा और बिलासपुर जिले के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित  कार्यशाला का का उद्घाटन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर नीरज चंद्राकर , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अर्चना झा ने किया। सीएसपी  कोतवाली विश्वदीपक त्रिपाठी, डीएसपी क्राइम प्रवीण राय , डीएसपी खूँटियाँ , उप पुलिस अधीक्षक सीआईडी सुनील कुमार शर्मा  निरीक्षक सीआईडी अजय कुमार साहू , उप निरीक्षक सीआईडी धर्मेंद्र कुमार भारती भी विशेष रूप से मौजूद थे।
                     पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने फिंगर प्रिंट् विज्ञान और इतिहास फिंगर की जानकारी दी। फिंगर प्रिंट प्रक्रिया के दौरान सर्च और रिकार्ड सिलिप्स रख रखाव के बारे में बताया। इस दौरान फिंगर प्रिंट लेने की आवश्यकताओं, अज्ञात मृतको का फिंगर प्रिंट की आवश्यकता पर पुलिस अधिकारियों ने प्रकाश डाला।
              पुलिस अधिकारियों ने फिंगर प्रिंट से जुड़ी धाराओं की भी जानकारी दी। सेंट्रल फिंगर प्रिंट ब्यूरो का कार्यों को समझाया। सीन ऑफ क्राइम घटना स्थल से फिंगर प्रिंट लेने की प्रक्रियाओं को प्रमुखता के साथ पेश किया।
                       दो दिवसीय कार्यशाला में रेंज स्तर पर जिला बिलासपुर मुंगेली, जांजगीर चम्पा , कोरबा , रायगढ़ से लगभग 300  आरक्षक , प्रधान आरक्षक , पीसीडी, एपीसीडी और कोर्ट मुहर्रिर शिरकत किया। सभी ने फिंगर प्रिंट का बुनियादी प्रशिक्षण कार्यक्रम का लाभ उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *