7 सितम्बर तक जुडेंगा मतदाताओं का नाम…कांग्रेस ने की बैलेट की मांग…जोगी नेताओं ने कहा-निरस्त हो फोटोकापी आवेदन

बिलासपुर— जिला उप निर्वाचन अधिकारी सुमित अग्रवाल ने बताया कि 31 दिसम्बर को नाम जुड़वाने की तारीख खत्म हो चुकी है। अब 20 सितम्बर तक मतदाता अधिकारी तहसीलदार और एसडीएम मतदाता से जुड़ी तमाम समस्याओं का निराकरण करेंगे। इस दौरान छूट गए मतदाता अपना नाम आन लाइन या आवेदन के साथ एसडीएम और तहसीलदार को आवेदन जुड़वा सकते हैं। मतदाता सूची का फायनल प्रकाशन 27 सितम्ब को किया जाएगा। मंथन सभागार में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न पार्टियों के प्रतिनिधि और पत्रकार मौजूद थे।
                         मंथन सभागार में जिला उप निर्वाचन अधिकारी सुमित अग्रवाल ने बताया कि पार्टियों और अन्य लोगों की मांग पर चुनाव आयोग ने नाम जुड़नाने की तारीख को 21 से बढ़ाकर 31 अगस्त किया था। 31 अगस्त बीत जाने के बाद नाम जुड़वाने का काम खत्म हुआ है। अब कोई भी मतदाता अपना नाम  20 सितम्बर तक चुनाव अधिकारी तहसीलदार और एसडीएम को आवेदन देकर जुड़वा सकता है। आनलाइन भी आवेदन कर सकता है। सुमित अग्रवाल ने बताया कि 20 सितम्बर तक दावा अापत्ती का निराकरण किया जाएगा। 27 सितम्बर को मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।
जनप्रतिनिधियों ने की शिकायत
                 बैठक में कांग्रेस,जनता कांग्रेस,भाजपा सीपीआई समेत कई दलों के जनप्रतिनिधि मौजूद थे। कांग्रेस नेता ऋषि पाण्डेय और धर्मेश ने बताया कि नाम जुड़वाने की प्रक्रिया के दौरान बीएलओ के पास आवेदन नहीं पाया गया। मजबूर होकर मतदाताओं को आवेदन की पोटोकाफी आवेदन में पार्म भरना पड़ा। धर्मेश और ऋषि पाण्डेय ने कहा कि विलोपित नामों को आज तक नहीं जोड़ा गया है। यही कारण है कि कम आवेदन फार्म होने की स्थिति में मतदाताओं को आवेदन फोटोकापी में करना पड़ा। दोनों नेताओं ने कहा कि यदि फोटो कापी वाले आवेदनों को निरस्त करने से पहले मतदाताओं का वेरीफिकेशन किया जाए। यदि गलत आवेदन पाए जाने पर ही आवेदन को निरस्त किया जाए।
                     कांग्रेस नेता ऋषि पाण्डेय ने निर्वाचन आयोग से ईव्हीएम की वजाय बैलेट से चुनाव कराने की मांग की।
जनता कांग्रेस ने फोटोकापी आवेदन पर जताया विरोध
          जनता कांग्रेस नेता विश्वभ्र गुलहरे,मणिशंकर पाण्डेय,विक्रांत तिवारी ने फोटोकापी वाले आवेदन को स्वीकार नहीं किए जाने की मांग की। तीनों नेताओं ने कहा कि कलेक्टर के आदेश के बाद भी फोटकापी आवेदन को स्वीकार किया गया। इसका अर्थ है कि सत्ता पक्ष के इशारे पर ही फोटकापी आवेदन दिया गया। कलेक्टर ने निर्देश दिया था कि बल्क में आवेदन नहीं लिए जाएंगे। बावजूद इसके आवेदन बल्क में लिए गए। हमारी मांग है कि सभी फोटोकापी आवेदनों को अस्वाीकर किया जाए। इसके अलावा सभी आवेदनो का वेरिरपिकेशन किया जाए।
मशीन का डेमो
     उप निर्वाचन आयुक्त सुमित अग्रवाल ने बताया कि हैदराबाद से जिले को कुल 2304 ईव्हीएम और व्हीव्हीपेट मशीन मिले। परीक्षण के दौरान 60 मशीन को ठीक से कार्य करना नहीं पाया गया। उन्हें हैदराबाद लौटा दिया गया है। जल्द ही नई मशीन आ जाएगी। सुमित ने बताया कि बटन दबाने के बाद मतदाता ने जहां नोट दिया है उसकी पर्ची देख सकता है। सात सेकन्ड बाद पर्जी बाक्स में गिर जाएगी। उप निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि सभी विधानसभा में वोट गिनने से पहले किसी एक व्हीव्हीपेट पर्चियों की गणना होगी।
सूची में नाम जुड़वाने की अंतिम तारीख 7 सितम्बर
                भारत निर्वाचन आयोग ने द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदाता सूची में नाम जुड़वाने, कटवानें और संशोधन करवाने के लिे अंतिम तारीख 7 सितम्बर तक बढ़ा दिया है। जानकारी अनुसार विधानसभा निर्वाचन 2018 अंतर्गत फोटो युक्त निर्वाचक नामावलियों का द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, अर्हता तिथि 1 जनवरी 2018 की स्थिति में दावा/आपत्ति प्राप्त करने हेतु पूर्व में 31 अगस्त तक की तिथि निर्धारित की गई थी। बढ़ाकर 7 सितम्बर तक किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *