हर्षिता ने कहा..उंगलियां दिखाने वाले..सावधान..3 उंगलियां आपकी तरफ…विक्रम ने कहा..महापर्व में निभाएं भूमिका

बिलासपुर—बैमा नगोई में स्वच्छता ही सेवा अभियान का शुभारंभ किया गया। राज्य महिला आयोग अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय स्वच्छता दूत स्कूली बच्चों से मिली। मिलकर बच्चों को सफाई के प्रति उत्साहित किया। राज्य महिला आयोग हर्षिता पांडेय ने महामाया मंदिर में साफ सफाई कर जनता को स्वच्छता का संदेश दिया।

                 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर देशभर में 15 सितंबर से स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू किया गया. बिलासपुर जिले में ग्राम बैमा नगोई से अभियान का शुभारंभ राज्य महिला आयोग अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने महामाया मंदिर में सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दिया।

          अभियान में  बैमा-नगोई, खमतराई और आसपास के स्कूली बच्चों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।  हर्षिता पांडेय ने कहा कि बच्चों में स्वच्छता दूत बनने की ताकत है।  15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता के लिए जन आंदोलन चला जा रहा है। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि हम अक्सर सोचते हैं कि दूसरों ने क्या किया है। लेकिन दूसरे की तरफ ऊंगली दिखाने से पहले अपने बारे में लोगों को जरूर सोचना चाहिए। क्योंकि तीन ऊंगलियां हमारी ओर उठती है।

                      हर्षिता पाण्डेय ने कहा कि जीवन में हम तीन ऋणों से उऋण नहीं हो सकते हैं। माता-पिता का ऋण, गुरु का ऋण और लोक ऋण। समाज ने हमें जो कुछ दिया है, उसे वापस करना हमारी जिम्मेदारी है। इसलिएस्वच्छता के साथ ही सभी बच्चे अपने माता-पिता को मतदान के लिए प्रेरित करें।

                                            जनपद पंचायत बिल्हा के उपाध्यक्ष विक्रम सिंह ठाकुर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। विक्रम सिंह ने लोगों को उत्साहित करते हुए कहा कि स्वच्छता से शरीर ना केवल निरोगी होता है। बल्कि कम से कम डॉक्टरों की जरूरत पड़ती है। जो शासन नहीं कर सकता वह काम बड़े ही आसानी से बच्चे ही अपने माता पिता से करवा सकते हैं। विक्रम ने बताया कि बच्चे अपने माता पिता को ना केवल सफाई का संदेश दें। बल्कि चुनावी महापर्व में मतदान के लिए भी प्रेरित करें।

                               कार्यक्रम में उपस्थित जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी फरिहा आलम सिद्दीकी ने कहा कि स्वच्छता की दिशा में तेजी से काम हो रहा है। घर-घर में शौचालय बन गए हैं। 90 प्रतिशत लोग अब शौचालयों का उपयोग करने लगे हैं। लोगों को यह समझना होगा कि केवल शौचालय बनाने से स्वच्छता नहीं आती। इसके लिए तन-मन और आचरण में स्वच्छता लाना आवश्यक है। जरूरी है कि हम अपने घर के आसपास की जगह साफ-सुथरा रखें।  फारिहा ने युवाओं से मतदान में बढ़चढ़कर भाग लेने को कहा।

                                   इस दौरान अतिथियों, स्कूली बच्चों, शिक्षक, शिक्षिकाओं ने महामाया परिसर में साफ-सफाई की। परिसर में पौधरोपण कर हरियर बिलासपुर का संदेश दिया। जनपद पंचायत बिल्हा सीईओ एसएन मिश्रा ने आभार व्यक्त किया।  कार्यक्रम में एसडीएम देवेन्द्र पटेल, सरपंच कुमारी बाई, राजेश सूर्यवंशी समेत क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *