क्राइम पेट्रोल देखकर की प्रेमिका की हत्या….आरोपी पकड़ाया…मोटर सायकल, आधार कार्ड और दस्तावेज बरामद

बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस ने बेलगहना सलका रोड स्थित रेल पटरी पर अज्ञात महिला की हत्या का खुलासा किया है। पुलिस खुलासे के अनुसार महिला का शव 27 सितम्बर 2018 को मिला था। कयास लगाया जा रहा था कि महिला की मौत ट्रेन से कटने से हुई है। बाद में खुलासा हुआ कि महिला को ट्रेन से कटने के पहले गला दबाकर मारा गया है। फिलहाल आरोपी को जांच पड़ताल और जुर्म कबूलने के बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

               बिलासागुड़ी में पत्रकार वार्ता के दौरान एडिश्नल एसपी अर्चना झा ने बताया कि 27 सितम्बर को जानकारी मिलने के बाद सलका रोड स्थित रेल पटरी पर महिला की सिर हाथ कटी लाश मिली। महिला की पहचान नहीं होने पर वरिष्ठ पुलिस कप्तान आरिफ शेख के निर्देश पर जांंच पड़ताल शुरू हुई। जिले समेत आसपास के जिला थानों में महिला की जानकारी मांगी गयी। गुमशुदगी की रिपोर्ट को खंगाला गया।

                             अर्चना झा ने बताया कि इस दौरान फोरेंसिक रिपोर्ट और अन्य रिपोर्ट के आधार पर जानकारी पुख्ता हो गयी कि महिला की हत्या रेल से कटने के पहले गला दबाकर हुई है। जांच पड़ताल ,गुमशुदगी तलाश और साइबर सेल की मदद से जानकारी मिली कि मृतक महिला का नाम सुनीता पोर्ते है। मृतिका पाली थाना क्षेत्र में नगर सैनिक पद पर कार्यरत है। मृतक महिला की नगर सैनिक पद पर अनुकम्पा नियुक्ति पति स्व.राकेश पोर्ते की मौत के बाद हुई थी। परिजनों ने गुमशुदगी भी दर्ज कराई है।

               अर्चना झा के अनुसार साइबर सेल से जानकारी मिली कि महिला का किसी मनोज यादव पिता सगुन यादव से मोबाइल पर बातचीत हुई है। मनोज यादव रतनपुर थाना के कुंआंजती गांव का रहने वाला है। मनोज को हिरासत में लेकर बिलासपुर पुलिस ने पूछताछ की। आरोपी मनोज ने बताया कि सुनीता पोर्ते से उसका करीब 6 साल तक प्रेम चला। इसी बीच सुनीता ने राकेश पोर्ते से शादी कर ली। राकेश पोर्ते की मौत के बाद सुनीता को अनुकम्पा नियुक्ति मिली। एक बार फिर उससे नजदीकी बढ़ी।

                          एडिश्लल एसपी ने आरोपी के हवाले से बताया कि सुनीता की नौकरी के दौरान कई लोगों से संबंध थे। इस बीच गांड़ी खरीदने के लिए मृतिका ने कई बार मनोज यादव पर एक लाख रूपए देने के लिए दबाव बनाया। दूसरे से संबध और रूपए के लिए दबाव डालने से वह काफी परेशान हो गया। मनोज ने एक दिन सुनीता से छुटकारा पाने के लिए 26 सितम्बर को सम्पर्क किया। टीवी सीरियल क्राइम पेट्रोल देखने के बाद उसने सुनीता को लेकर सलका रोड स्थित केकराखोली रेलवे फाटक से मोटर सायकल से ले गया। ट्रेक पर सुनीता का गला दबाकर हत्या कर दिया। इसके बाद शव को पटरी पर रखकर झाड़ी में छिपकर ट्रेन का इंतजार किया।

                         आरोपी ने पुलिस को बताया कि ट्रेन आने के बाद मृतका का सिर हाथ कट गया। सुनीता का पर्स और मोबाइल लेकर घर आ गया। बयान के बाद पुलिस ने पूरे मामले को रीक्रिएट कर भौतिक सत्यापन भी किया। आरोपी के पास से हत्या के दौरान प्रयुक्त की गयी मोटरसायकल को बरामद कर लिया है। आरोपी से मृतका की मोबाइल,आधार कार्ड समेत अन्य दस्तावेजों को भी जब्त किया गया है।

loading...

Comments

  1. By Ramesh kumar jagat

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...