हमारी भूमिका कैटलिस्ट की तरह…डॉ.देवेन्द्र ने बताया…जनता को जगाएगी आक्सी-जन की टीम…शहर को बनाएंगे बेहतर

बिलासपुर— अपोलो डॉक्टर देवेन्द्र सिंह ने आज प्रेसवार्ता में बताया कि हमारा संगठन कैटलिस्ट की तरह काम करेगा। शहर कोबेहतर और सुनियोजित तरीके से विकसित करने शहर को जागरूक करेंगे। हमारा किसी भी राजनैतिक दल से कोई लेना देना नहीं है। हम अपने शहर को बेहतर और व्यवस्थित करने जागरूकता अभियान भी चलाएंगे। जब डॉ.देवेन्द्र प्रेस वार्ता ले रहे थे। उस दौरान आक्सी-जन टीम के सदस्य भी मौजूद थे। इस दौरान आक्सी-जन के सभी सदस्यों ने बताया कि हमारा काम जनता से अपील करना है। ग्रीन मैनिफेस्टो को जन-जन तक पहुंचाना है।

                                   शहर को बेहतर करने और तमाम उपायों को लेकर आज आक्सी-जन की टीम ने जनता को जागरूक करने पत्रकारों से सहयोग मांगा। डॉ.देवेन्द्र सिंह समेत टीम के अन्य सदस्यों ने बताया कि शहर को सुनियोजित और बेहतर विकास के लिए जनता का सहयोग जरूरी है। हमारा किसी भी पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। यदि शहर को स्मार्ट बनाना है तो जनता को भी भागीदार होना पड़ेगा। इसके लिए कुछ प्रयास भी करने होंगे। इसमें हमारी भूमिका कैटलिस्ट यानि उत्प्रेरक की रहेगी।

सवाल जवाब के दौरान डॉ.देवेन्द्र सिंह शहर की तमाम समस्याओं को सामने रखा। उन्होने कहा कि हमारी आक्सी-जन टीम का प्रयास है कि शहरवासी शहर को स्मार्ट बनाने मिलजुलकर ग्रीन मैनिफेस्टो को अमल में लाना होगा।

                       डॉ.देवेन्द्र ने बताया कि शहर के 7 किलोमीटर के दायरे में आने वाले पेड़ पौधों को काटने से रोका जाए। हरित क्रांति योजना का क्रियान्यन के लिए जरूरी है कि शहर की सारी बिजली लाइन अन्डर ग्राउन्ड किया जाए। शहर वासियों को शपथ लेना होगा कि शहर के सात किलोमीटर के दायरे में सड़कों को आवरा पशु से मुक्त किया जाए। हमारा यह भी प्रयास होगा कि पेयजल का उपयोग निर्माण कार्य में ना किया जाए। गुणवत्ताहीन पालीथिन के उपयोग पर पूरी तरह से लगाम लगे।

             डॉ.देवेन्द्र के अनुसार बिलासपुर का नाम देश में सांस्कृतिक कल्चर के रूप में है। रायगढ़ में चक्रधर समारोह होता है। हम चाहते हैं कि हमारा भी शहर नाम के अनुरूप हो। बिलासपुर में बिलासा समारोह का आयोजन किया जाए। ऐसा होने से स्थानीय कलाकारों को मौका और लाभ दोनों मिलेगा। इसके अलावा शहर में एक ऐसा गलियारा बने जहां लोगों की समस्या का समाधान किया जा सके।

देवेन्द्र के अनुसार आक्सी-जन की टीम मॉल,अपार्टमेन्ट, कालोनियों में या फिर सार्वजनिक बिजली व्यवस्था को सौर ऊर्जा से संचालित करने के लिए उत्प्रेरित करेगी। सड़क किनारे गुमटी ढेला ठाबा से जीविकोपार्जन करने वालों को उत्प्रेरित किया जाए कि स्वच्छता अभियान को लेकर शपथ लें।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...