पैराशूट प्रत्याशी का सवाल… तिलमिला गए कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता…कहा अब जीताना होगा…फिर मंदिर और राफेल पर हुए सहज

बिलासपुर— कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रमोद तिवारी आज प्रेसवार्ता में सवाल जवाब के दौरान अजीब गरीब महसूस किया। राहुल गांधी के बाद भी प्रदेश में पैराशूट प्रत्याशी उतारे गए के सवाल पर तिलमिला गए। बाद में खुद को संभालते हुए कहा कि अब सभी कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी हैं। जिताने की जिम्मेदारी आपकी है। इस दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने प्रदेश और केन्द्र सरकार के साथ दोनों मुखिया पर जमकर निशाना साधा। इस दौारन उन्होने महंगाई,गरीबी,विकास और लापता हुई महिलाओं के मुद्दों को गंभीरता के साथ रखा।

                                              कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रमोद तिवारी ने आज प्रेस वार्ता लेकर प्रदेश और देश सरकार के खिलाफ जमकर बोले। प्रमोद तिवारी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पिछले पन्द्रह सालों में गरीब और गरीबी दोनों बढ़े हैं। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के सामने गरीबी का गलत आंकड़ा पेश किया है। जाहिर सी बात है कि प्रदेश में 43 प्रतिशत गरीब हैं। जबकि 2003 में गरीबों की संख्या 37 प्रतिशत थी। खुद प्रदेश के मुखिया ने स्वीकार किया है।

प्रमोद तिवारी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ को बोलने से पहले खुद को तौलना चाहिए। उनका बयान शर्मनाक है। हम पार्लियामेन्ट में मात्र 44 सदस्य हैं। बावजूद इसके कहना कि मंदिर निर्माण में बाधा है। यह सोचकर उन पर और भाजपा की स्थिति पर दया आती है। चुनाव नजदीक आते ही योगी समेत भाजपा नेता मंदिर का राग अलापते हैं। लेकिन जनता अब समझ चुकी है कि मंदिर केवल भाजपा का राजनैतिक एजेन्डा है।

पैराशूट के सवाल पर तिलमिलाए प्रमोद

राहुल गांधी का पैराशूट परिभाषा क्या है। क्योंकि अक्सर भाषणों में कहा करते हैं कि सालों साल से कांग्रेस की सेवा करने ,दरी उठाने और लाठी डंडा खाने वालों को ही टिकट दी जाएगी। बावजूद कांग्रेस ने मैदान में पैराशूट नेताओं को उतारा। जबकि उन्होने कई बार कहा कि पैराशूट की रस्सी काट दी जाएगी। आखिर माजरा क्या है।

सवाल सुनने के बाद प्रमोद तिवारी पहले तो काफी असहज महसूस किया। फिर तिलमिलाए भी…उन्होने खुद को संभालते हुए कहा कि अब इस पर कुछ ज्यादा नहीं बोनला। मैदान में उतरे सभी लोग कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी हैं। उन्हें जीतना आप सबकी जिम्मेदारी है। दुबारा पैराशूट की परिभाषा पूछे जाने पर प्रमोद तिवारी झल्ला गए। उन्होनें कहा कि बार बार एक ही सवाल का जवाब देना पसंद नहीं।

टिकट दिए जाए के बाद नाराज कांग्रेसी घर बैठ गए हैं के सवाल पर उन्होने कहा कि सब मिलकर प्रत्याशी को जीताएंगे। सब मिलकर अधिकृत प्रत्याशी को जिताएंगे। लेकिन प्रमोद तिवारी ने अंत तक नहीं बताया कि राहुल गांधी का पैराशूट कहने का मतलब अब क्या निकाला जाए।

राफेल  सवाल पर हुए खुश..चिटफंड पर सरकार को घेरा

प्रमोद तिवारी ने राफेल डील सौदे पर कहा कि सच्चाई तो यह है कि सीईओ झूठ बोल रहे हैं। कांग्रेस सदन में राफेल मामले में बहस करना चाहती है। लेकिन प्रधानमंत्री ही चुप रहते हैं। आश्चर्य की बात है कि जब हम सौदा करते हैं तो रूपए देना होता है। लेकिन राफेल कम्पनी ने रिलायंस मालिक को 284 करोड़ दिए। आखिर यह रूपए हैं क्या…जाहिर सी बात है रूपए कमीशन के हैं।

चिटफंड पर प्रमोद तिवारी ने कहा कि चिटफंड घोटाले में प्रदेश सरकार के मुखिया के परिवार का नाम भी सामने आया है। घोटाले में एक करोड़ लोग और बीस लाख परिवार प्रभावित हुए हैं। सरकारी संरक्षण में 150 से ज्यादा कम्पनियों ने पांच हजार करोड़ रूपए से अधिक का घोटाला हुआ है। अब तक आधा सैकड़ा से अधिक लोगों ने आत्महत्या कर ली है। सिवरेज पर कहा कि  329 करोड़ की योजना एक हजार करोड़ से अधिक की हो गयी है। जाहिर सी बात है समय और रकम बढ़ाकर घोटाला किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *