भारत के T-20 मैच हारने पर आखिर सहवाग ने क्यों कहा-GST की वजह से जीता ऑस्ट्रेलिया

ipl,auction,2018,indiaनईदिल्ली।ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी-20 मैच में बारिश टीम इंडिया पर भारी पड़ गया और डकवर्थ-लुइस नियम की वजह से 4 रनों से हार का सामना करना पड़ा. भारत की इस हार पर टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग ने डकवर्थ-लुइस नियम पर तंज कसते हुए अपनी भड़ास निकाली और इसकी तुलना जीएसटी ( गुड्स एंड सर्विस टैक्स) से कर दी. सहवाग ने सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा, ‘भारत ने ऑस्ट्रेलिया से ज्यादा रन बनाए लेकिन हम फिर भी मैच हार गए. ऑस्ट्रेलिया के स्कोर पर लगा जीएसटी भारी पड़ गया लेकिन एक रोमांचक मुकाबले से सीरीज की शुरुआत हुई.’

वीरेंद्र सहवाग यहां डकवर्थ-लुइस नियम को जीएसटी बता रहे हैं क्योंकि इसी नियम की वजह से ऑस्ट्रेलिया के कम स्कोर करने के बावजूद भी टीम इंडिया को बड़ी स्कोर का सामना करना पड़ा।

पहले टी-20 मैच में 17 ओवरों में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने चार विकेट खोकर 158 रन बनाए. अंपायरों ने यहां डकवर्थ लुइस प्रणाली का इस्तेमाल करते हुए भारत की परेशानी को बढ़ाते हुए उसे 174 रनों का लक्ष्य दिया. अपनी मजबूत बल्लेबाजी के दम पर भारत लक्ष्य के करीब तो आई, लेकिन 4 रन से चूक गई. मेहमान टीम 17 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 169 रन ही बना सकी.

ऑस्ट्रेलिया के एडम जाम्पा और मार्कस स्टोइनिस ने दो-दो विकेट लिए. इन दोनों ने अहम समय और अहम खिलाड़ियों के विकेट चटकाए. जाम्पा ने विराट कोहली और लोकेश राहुल के विकेट लिए तो वहीं स्टोइनिस ने आखिरी ओवर में दिनेश कार्तिक (30) और क्रूणाल पांड्या (2) को आउट कर भारत की जीत की संभावनाओं को खत्म कर दिया.

भारत के लिए कार्तिक से पहले शिखर धवन ने 42 गेंदों पर 10 चौके और दो छक्कों की मदद से 76 रनों की पारी खेल टीम को जीत की पटरी पर बनाए रखा था.

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत को रोहित शर्मा (7) के रूप में 35 के कुल स्कोर पर पहला झटका लगा. दूसरे छोर से धवन तेजी से रन बटोर रहे थे. लगातार आउट ऑफ फॉर्म चल रहे राहुल (13) एक बार फिर विफल रहे. उन्होंने जाम्पा की गेंद पर निकल कर मारने का प्रयास किया और इसी में वह चूक गए. एलेक्स कारे ने उनकी गिल्लियां बिखेरने में कोई गलती नहीं की. वह 81 के कुल स्कोर पर आउट हुए.

Comments

  1. By प्रकाश दुबे

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *