जब महिलाओं ने की शिकायत…वाहवाही लूटने के लिए हुई कार्रवाई…कहा झूठे आरोप में दिलीप को भेजा जेल

बिलासपुर—मस्तूरी थाना क्षेत्र की गतौरा निवासी पीड़िता ने अन्य महिलाओं के साथ वरिष्ठ पुलिस कप्तान से लिखित शिकायत कर स्थानीय पुलिस पर ज्यादती का आरोप लगाया है। पीडित महिला ने बताया कि उसके पति को मस्तूरी पुलिस ने घर घुसकर मारपीट की है। झूठे आरोप में फंसाकर जेल भेज दिया है। इससे परिवार को गहरा सदमा लगा है। ग्रामीणों में पुलिस के प्रति आक्रोश भी है।

               मस्तूरी थाना क्षेत्र की गतौरा की महिलाओं ने स्थानीय पुलिस पर घर में घुसकर गाली गलौच और झूठे आरोप में फंसाने का आरोप लगाया है। गतौरा से पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची महिलाओं ने बताया कि महिला कांस्टेबल और मस्तूरी पुलिस ने घर में घुसकर दीलिप कुमार पिता जवाहर को झूठे मामले में फंसाकर जेल भेज दिया है।

                महिलाओं ने बताया कि 18 जून की रात्रि मस्तूरी पुलिस के जवान और महिला कांस्टेबल दिलीप के घर पहुंची। पुलिस ने बताया कि पुराने मामले में दिलीप को गिरफ्तार करने आए है। इतने में दिलीप घर के अन्दर से निकला और बताया कि पुराने मामले में उसे कोर्ट से अग्रिम जमानत मिली है।

                      महिलाओं ने बताया कि इतना कहते ही मस्तूरी पुलिस ने भद्दी भद्दी गालियां देना शुरू कर दिया। दिलीप को घर के सामने ही लात घूंसे और डंडे से जनकर मारा। गाड़ी में बैठाकर दिलीप को थाने लाया गया। दूसरे दिन तीन पेटी शराब रखने के आरोप में जेल भेज दिया गया।

          पुलिस अधीक्षक कार्यालय को लिखित शिकायत में परिजन और गांव की महिलाओं ने बताया कि दिलीप को झूठे मामले में फंसाया गया है। जबकि घर में तीन पेटी की बात तो दूर एक बूंद भी शराब नहीं पाया गया। पुलिस ने कार्रवाई मनगढंत और वाहवाही के लिए की है। इससे पुलिस की छवि भी धूमिल हुई है।

                      गांव की महिलाएं और पीड़ित के परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। जांच के बाद झूठी कार्रवाई करने वालो के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *