ऑनलाइन चेक-इन चार्ज पर इंडिगो ने दी सफाई- नीति में कोई बदलाव नहीं, सरकार कर रही है समीक्षा

Indigo Go, Air Flight, Cancel, Dgca, Engine Fail,नई दिल्ली-ऑनलाइन चेक-इन की सुविधा के लिए चार्ज वसूलने पर उठे विवाद के बाद निजी एयरलाइंस कंपनियों ने अपनी सफाई दी है. एयरलाइंस कंपनी इंडिगो ने ऑनलाइन चेक-इन की सुविधा के लिए चार्ज वसूलने पर सफाई देते हुए कहा है कि उसने अपने वेब चेक-इन पॉलिसी में न ही कोई बदलाव किया है और न ही इसके लिए कोई अलग चार्ज वसूला है. सस्ती विमान सेवा देने वाली कंपनी इंडिगो ने 14 नवंबर से वेब चेक-इन पर शुल्क वसूलना शुरू कर दिया था जिसके बाद कंपनी की काफी आलोचना हुई थी.बता दें कि वेब चेक-इन के जरिये, हवाई जहाज में सफर करने वाले यात्री ऑनलाइन तरीके से विमान में अपनी मौजूदगी को सुनिश्चित करते हैं और सीट भी चुन सकते हैं.  वेब चेक-इन सुविधा से पहले आम तौर पर यात्रियों को हवाई जहाज में बैठने से पहले चेक-इन एयरपोर्ट पर कराना पड़ता है जो कि अभी भी उपलब्ध है.

इंडिगो का बयान
इंडिगो ने अपने बयान में कहा, ‘ग्राहकों की मांग और मार्केट की जरूरतों के हिसाब पर ‘एडवांस सेलेक्शन’ का सेग्मेंट है. इंडिगो के ग्राहकों को अनिवार्य रूप से इसका भुगतान नहीं करना पड़ता है. यह पूरी दुनिया में एयरलाइंस के द्वारा अपनाई जाने वाली सामान्य प्रक्रिया है.’बयान के अनुसार, ‘जिन यात्रियों की सीट के लिए कोई प्राथमिकता नहीं है और जो एडवांस सीट सेलेक्शन के लिए अतिरिक्त शुल्क नहीं देना चाहते हैं, वे वेब चेक-इन के दौरान कोई भी खाली सीट बुक कर सकते हैं या फिर उन्हें एयरपोर्ट पर चेक-इन के समय सीट दिया जाएगा.’

इंडिगो का यह बयान एयरलाइंस कंपनियों द्वारा वेब चेक-इन के लिए अधिक चार्ज वसूलने की खबरों के बीच आया है. दो दिन पहले ही इंडिगो ने एक ग्राहक के जवाब में ट्वीट कर जानकारी दी थी कि ‘हमारी संशोधित नीति के तहत, वेब चेक-इन के लिए सभी सीटें चार्जेबल होगा. विकल्प के तौर पर, आप एयरपोर्ट पर मुफ्त में चेक-इन कर सकते हैं. सीट उपलब्धता के आधार पर दी जाएंगी.’

इंडिगो के मुताबिक, ‘कम शुल्क पर एडवांस सेलेक्शन ग्राहकों को अपनी पसंद की सीटें चुनने में मदद करती है. पसंदीदा सीट लेने के लिए कम से कम 100 रुपये से शुरू होती है, वहीं कुछ सीट मार्केट की मांग के हिसाब से मुफ्त में भी उपलब्ध हो सकते हैं. एयरपोर्ट चेक-इन करने पर यात्रियों को पसंद की सीट मिलने की कोई गारंटी नहीं है.’

स्पाइसजेट की वेब चेक-इन पॉलिसी
हालांकि एयरलाइंस कंपनी स्पाइस जेट की तरफ से वेब चेक-इन पर अधिक चार्ज वसूलने को लेकर अभी तक कोई बयान जारी नहीं किया गया है. स्पाइसजेट ने सोमवार को कहा था कि वेब चेक-इन के जरिये सीटों को शुल्क लेकर आवंटित किया जाएगा.स्पाइसजेट ने कहा था, ‘अगर कोई यात्री किसी सीट के लिए ऑनलाइन शुल्क नहीं देना चाहते हैं तो वह एयरपोर्ट पर चेक-इन के समय अपने पसंद के सीट के लिए अनुरोध कर सकते हैं. हमारी टीम उपलब्ध रहने पर बिना किसी चार्ज के उन्हें सीट देगी.’

केंद्र सरकार कर रही है समीक्षा
वेब चेक-इन पर हर सीट के लिए शुल्क वसूलने के एयरलाइंस कंपनियों के निर्णय की सरकार समीक्षा कर रही है. नागर विमानन मंत्रालय ने सोमवार को कहा था कि वह देखेगी कि कंपनियों का यह फैसला मौजूदा नियमों के अनुरूप है या नहीं.मंत्रालय ने कहा, ‘कंपनियां वेब चेक-इन पर सभी सीटों के लिए शुल्क वसूल रही हैं, ऐसा हमारे संज्ञान में है लेकिन हम इसकी समीक्षा करेंगे कि यह अलग-अलग सेवाओं के लिए कीमत निर्धारण करने की मौजूदा व्यवस्था के अनुरूप है या नहीं.’

हालांकि तत्काल तौर पर यह नहीं कहा जा सकता कि अन्य बजट एयरलाइंस कंपनियों ने भी अपनी वेब चेक-इन व्यवस्था को बदला है या नही.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...