जिला निर्वाचन कार्यालक का काग्रेस अध्यक्ष को पत्र…कांग्रेस को मिला जवाब..डाक मतपत्रों की सूची देना संभव नहीं

बिलासपुर— जिला उप निर्वाचन अधिकारी ने कांग्रेसियों के सवालों का जवाब पत्र के माध्यम से जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष को भेज दिया है। विजय केशरवानी ने बताया कि जिला निर्वाचन कार्यालय से पत्र मिला है। पत्र में जिला उप-निर्वाचन अधिकारी ने सिलसिलेवार सवालों के जवाब और नियम निर्देशों का जिक्र किया है। केशरवानी ने बताया कि दो दिन पहले जिले के सभी कांग्रेस प्रत्याशियों के साथ जिला निर्वाचन अधिकारी से मिलकर कुछ आशंकाओं को लेकर लिखित जानकारी मांगी गयी थी। जिसका जवाब फिलहाल मिल गया है। जल्द ही सभी प्रत्याशियों और संगठन के पदाधिकारियों तक जिला निर्वाचन कार्यालय का जवाब भेज दिया जाएगा।

                    जिला निर्वाचन कार्यालय ने जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी को सवालों का जवाब मिल गया है। विजय केशरवानी ने बताया कि दो दिन पहले कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों ने व्यक्तिगत रूप से मिलकर ईव्हीएम और स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर आंशकाओं जाहिर की थी। साथ ही कुछ जानकारी भी मांगी गयी थी। कांग्रेसियों की आशंकाओं और जानकारी को लेकर जिला निर्वाचन कार्यालय ने जवाब भेजा है। पत्र की  जानकारी संगठन के पदाधिकारियों और प्रत्याशियों को भेजा जाएगा।

                विजय केशरवानी ने बताया कि उप-जिला निर्वाचन अधिकारी सुमित अग्रवाल ने बताया है कि डाक मतपत्रों की सूची प्रत्याशियों को उपलब्ध कराना संभव नहीं है। यदि प्रत्याशी चाहें तो मंथन सभागार के ऊपर स्थित हाल पहुंचकर मतदान की प्रक्रिया को देख सकते हैं। शाम को पोस्टल बैलेट बॉक्स को ट्रेजरी में जमा किया जाता है।

                 सुमित अग्रवाल ने बताया है कि मतदान के बाद सभी अप्रयुक्त और खराम मशीनों को व्हीव्हीपेट के साथ कोनी स्थित इंजीनियरिंग कालेज के स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रखा गया है। स्ट्रांग रूम सुरक्षा बलों और सीसीटीवी की निगरानी में है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अभ्यर्थी और उसका प्रतिनिधि स्ट्रांग रूम के अंतरिम दायरे के 20 फिट से निगरानी कर सकते हैं। स्ट्रांग रूम भवन में रिटर्निंग अधिकारी और पर्यवेक्षकों के अलावा कोई भी व्यक्ति मोबाइल लेकर नहीं जा सकता है। निर्वाचन आयोग ने स्ट्रांग रूम भवन में वेब जैमर लगाने का निर्देश नहीं दिया है।

                     उप- जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया है कि मतगणना तारीख को स्ट्रांग खोलते समय सभी प्रत्याशी और राजनैतिक दलों के एजेन्ट को उपस्थित रहने की सूचना दी जाएगी। इसके बाद ही स्ट्रांग रूम खोलने की कार्रवाई होगी। सभी कन्ट्रोल यूनिट को मतगणना टेबल तक ले जाते समय किसी भी दल या अभ्यर्थी को उपस्थित रहने का निर्देश चुनाव आयोग ने नहीं दिया है। ना ही पहचान पत्र जारी करने को कहा है। मतगणना टेबल पर कन्ट्रोल यूनिट को एजेन्टों के सामने ही अनलाक किया जाएगा। इसी दौरान कन्ट्रोल यूनिट का सीरियल क्रमांक दिखाया जाएगा। इसके बाद गणना की कार्रवाई होगी।

                                 जिला निर्वचान कार्यलय ने बताया कि मतदाओं की निर्वाचक नामावली राजनैतिक दलों को देने का प्रावधान नहीं है। विधानसभावार आवेदकों की सूची भी दिया जाना संभव नहीं है। डाक मतपत्रों की संख्या की जानकारी संबधित रिटर्निंग अधिकारी से प्राप्त किया जा सकता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...