बेनतीजा खत्म हुई बैंकरों की बैठक..यूएफबीयू ने किया हड़ताल का एलान..अधिकारी ने कहा खेद..लेकिन मजबूरी भी

बिलासपुर—यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स ने हड़ताल पर जाने का एलान किया है। यूएफबीयू बिलासपुर संयोजक ललित अग्रवाल ने आईबीए और यूएफबीयू के बीच वार्ता में सकारात्मक परिणाम नहीं आने के बाद 21 और 26 दिसम्बर को अखिल भारतीय स्तर पर हड़ताल का फैसला लिया गया है। ललित अग्रवाल ने हड़ताल की मुख्य वजह आईबीए की अडियल रवैया को बताया है।

                             यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स संयोंयक ललित अग्रवाल के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार 21 और 26 दिसम्बर को अखिल भारतीय स्तर पर सभी बैंक हड़ताल पर रहेंगे। ऐसा फैसला आईबीए और यूएफबीयू के बीच 11वे वेतन समझौते को लेकर हुए वार्ता में सकारात्मक प्रस्ताव नही मिलने के बाद लिया गया है। इसके चलते नाराज बैंक संगठनों ने 21 और 26 दिसम्बर 2018 को अखिल भारतीय स्तर पर हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है।
               ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन के महासचिव सौम्या दत्ता और एआईपीएनबीओ के महासचिव दिलीप साहा ने बताया कि एसबीआई, पीएनबी, बीओबी, यूबीआई और इंडियन बैंक प्रबंधन ने स्केल 4 से ऊपर के अधिकारियों के लिए वेतन मेंडेट, पांच दिनों का सप्ताह, बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक के समायोजन के अलावा एनपीएस के बदले सभी को पेंशन देने, ग्रेच्युटी समेत अन्य मुद्दों को लेकर आईबोक 21 दिसम्बर 2018 को हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है।
            यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स ने त्वरित वेतन समझौते की मांग लेकर 26 दिसम्बर 2018 को अखिल भारतीय बैंक हड़ताल पर जाने को कहा है। मुम्बई में आयोजित बैठक में मौजूद यूएफबीयू के स्थानीय संयोजक ललित अग्रवाल ने कहा कि हड़ताल पर जाने से आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। लेकिन हड़ताल पर जाना बैंक प्रबंधन की मजबूरी है। जाहिर सी बात है कि हड़ताल पर जाने से 21 से 26 दिसम्बर तक  बैंकिग में असुविधा हो सकती हैं। ललित अग्रवाल ने होने वाली असुविधा के लिए खेद भी जताया है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...