जांच लैब के लिए केन्द्र को भेजे अभिमत…डीबी कोर्ट में याचिका निराकृत…शासन ने कहा अब प्रदेश में हो रही जांच

बिलासपुर— हाईकोर्ट बिलासपुर ने डेंगू और स्वाइन फ्लू की मांग को लेकर दायर याचिका पर शासन से जवाब मिनले के बाद निराकृत कर दिया है। स्वर्गीय चन्द्रमौली वाजपेयी की याचिका पर सुनवाई के दौरान शासन ने बताया कि निर्देशों के अनुसार जगदलपुर और रायपुर में स्वाइन फ्लू और डेंगू टेस्ट लैब का शुभारंभ हो चुका है।

                     प्रदेश में डेंगू और स्वाइन फ्लू मरीजों की चिकित्सीय और टैस्ट की सुविधा नहीं होने को लेकर स्वर्गीय चन्द्रमौली वाजपेयी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर किया था। चन्द्रमौली वाजपेयी ने कोर्ट को बताया कि प्रदेश में एक भी ऐसा लैब नहीं है जहां स्वाइन और डेंगू के मरीज का सैम्पल जांच किया जा सके। प्रदेश के मरीजों की सैम्पल जांच मुम्बई और पुणे में किया जाता है। इस दौरान रिपोर्ट आने तक मरीजों की मौत हो चुकी होती है। वाजपेयी की याचिका पर हाईकोर्ट ने शासन को कोर्ट में जवाब पेश करने का आदेश दिया। इस बीच याचिकाकर्ता का निधन भी हो गया।

                       मामले में आज डबलबेंच में मुख्यन्यायाधीश अजय कुमार त्रिपाठी और पार्थ प्रीतक की कोर्ट में शासन ने जवाब पेश किया। शासन की तरफ से बताया गया कि इस समय प्रदेश में स्वाइन और डेंगू जांच के लिए जगलपुर और रायपुर में दो संस्थान खुल चुके हैं।रिपोर्ट चांज अब प्रदेश में किया जाता है। जवाब मिलने के बाद डीबी ने कहा कि राज्य शासन बिलासपुर स्थित सिम्स समेत अन्य स्थानों में लैब खोलने की अनुमति के लिए केन्द्र को अभिमत के साथ प्रस्ताव भेंजे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...