खुलेगा वनमाली सृजन पीठ का तीसरा केन्द्र…साहित्यकार करेंगे काव्य पाठ…रंंग संवाद का होगा लोकार्पण

बिलासपुर—- बिलासपुर में जगन्नाथ प्रसाद चौबे वनमाली स्मृति में देश का तीसरा और प्रदेश का पहला पीठ स्थापित किया जाएगा। वनमाली सृजनपीठ का शुभारम्भ 9 दिसम्बर को लब्ध प्रतिष्ठित साहित्यकारों की मौजूदगी में किया जाएगा। इस दौरान सांस्कृतिक पत्रिका “रंग संवाद” का भी लोकार्पण किया जाएगा। बिलासपुर में सृजनपीठ वनमाली के पहले अध्यक्ष साहित्यकार सतीश जायसवाल होंगे।

                             जगन्नाथ प्रसाद चौबे “वनमाली” की स्मृति में बिलासपुर में सृजनपीठ स्थापित किया जाएगा। बिलासपुर में वनमाली सृजन पीठ देश का तीसरा और छत्तीसगढ़ का पहला होगा। साहित्यकार सतीश जयसवाल  पीठ के पहले अध्यक्ष होंगे। पीठ का शुभारम्भ 9 दिसंबर को देश के ख्यातिनाम साहित्याकरों की मौजूदगी में किया जाएगा। सतीश जायसवाल ने बताया कि कार्यक्रम में दौरान सांस्कृतिक पत्रिका “रंग संवाद” का लोकार्पण के अलावा  आमंत्रित कवि रचना पाठ भी करेंगे।

                                             बनवाली सृजन पीठ बिलासपुर से पहले भोपाल और खंडवा में स्थापना हो चुकी है। पीठ के अध्यक्ष सतीश जयसवाल ने बताया कि चालीस से साठ दशक के बीच “वनमाली” हिंदी कथा के महत्वपूर्ण हस्ताक्षर थे । देश के प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं सरस्वती,  कहानी, विश्वमित्र, विशाल भारत, लोक मित्र, भारती, माया, माधुरी, समेत अन्य नियमित पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहे हैं। वनमाली सृजन पीठ का शुभारंभ और  सांस्कृतिक पत्रिका रंग संवाद का लोकार्पण 9 दिसंबर को शाम 4 बजे सृजन पीठ परिसर आईसेक्ट इंस्टीट्यूट बिल्डिंग रिंग रोड नंबर 2 पल्लव भवन के सामने गरिमामय कार्यक्रम में किया जाएगा।

                    कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉ सी वी रमन विश्वविद्यालय के कुलाधिपति कवि कथाकार और शिक्षाविद संतोष चौबे, कुलसचिव गौरव शुक्ला विशेष रूप से मौजूद रहेंगे। इस दौरान प्रभात त्रिपाठी, त्रिलोक महावर, शिवकुमार अर्चन, राम कुमार तिवारी, महेंद्र गगन, शरद कोकास, विजय सिंह ,विजय पंजवानी, मंजूषा मन, राम तैलंग,विनय उपाध्याय और विरेन्द्र धीर कविता पाठ भी करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *